व्यापार

मोदी सरकार के राज में 5 लाख लोग हुए बेरोजगार: पी चिदंबरम

मोदी सरकार के राज में 5 लाख लोग हुए बेरोजगार: पी चिदंबरम

कांग्रेस ने देश के आर्थिक हालातों को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला बोला। पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने आज प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि पेट्रोल, डीजल, LPG की कीमतों को लेकर लोगों में गुस्सा है। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार के राज में 5 लाख लोग बेरोजगार हुए। चार साल की सरकार में NPA बढ़ा है। यही नहीं ST के कारण कारोबार पर बुरा असर पड़ा। नोटबंदी की वजह से विकास दर 1.5% गिर गई।

GST से व्यापारियों की बढ़ी मुश्किलें 
चिदंबरम ने कहा कि GST से व्यापारियों की मुश्किलें जारी हैं करोड़ो का रिफंड बकाया है लेकिन सरकार इन पर ध्यान नहीं दे रही है। पूर्व वित्तमंत्री ने रविवार को भी मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कई ट्वीट किए। जिसमें उन्होंने कहा कि विकास की रट लगाई जा रही है और देश में विकास का हाल यह है कि दो साल में सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी दर 8.2 फीसदी से घटकर 6.7 फीसदी हो गई। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार के चार साल के कार्यकाल में जीडीपी दर सुस्त रही और बैंकों के फंसे हुए कर्ज यानी एनपीए 2,63,015 करोड़ रुपये से बढ़कर 10,30,000 करोड़ रुपये हो गए और बैंकिंग प्रणाली दिवालिया हो गई।

चिदंबरम ने कहा कि नोटबंदी के बाद जीडपी में गिरावट के बारे में उन्होंने जो अनुमान जाहिर किया था वही हुआ। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी किए गए आर्थिक आंकड़ों के बाद मीडिया में सिर्फ एक ही आंकड़ा 7.7 फीसदी आया। पिछले चार साल में सालना साख वृद्धि दर 5.6, 2.7,1.9 और 0.7 फीसदी रही। चिदंबरम ने कहा कि सरकार को पता है कि विकास नहीं हुआ इसीलिए 4 साल बाद उसने विकास के नारे को बदल दिया है।

Leave a Comment