व्यापार

चौथी औद्योगिक क्रांति में बड़ी भूमिका निभा सकता है भारत: विश्व आर्थिक मंच

चौथी औद्योगिक क्रांति में बड़ी भूमिका निभा सकता है भारत: विश्व आर्थिक मंच

भारत डिजिटल प्रौद्योगिक आधारित चौथी वैश्विक औद्योगिक क्रांति में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है. ऐसा वो भारतीय युवा के बूते कर सकते है. देश की युवा शक्ति का बूते भारत मोबाइल पर इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाली दूसरी सबसे बड़ी आबादी है. साथ ही यहां पर एक बड़ी आबादी अंग्रेजी बोलने में सक्षम है.

विश्व आर्थिक मंच के अध्यक्ष बॉर्ज ब्रेंडे ने एजेंसी से यह बीत कही है. हालांकि उन्होंने कहा कि इसके लिए देश को आधारभूत संरचना एवं बिजली की उपलब्धता में सुधार तथा मौद्रिक एवं वित्तीय नीतियों में स्थिरता की जरूरत होगी.

ब्रेंडे ने कहा, ‘भारत चौथी वैश्विक औद्योगिक क्रांति में बड़ी भूमिका निभा सकता है क्योंकि यहां की आधी से अधिक आबादी 27 साल से कम उम्र की है. इसके अलावा देश में अंग्रेजी बोलने वाले तथा मोबाइल पर इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाली दूसरी सबसे बड़ी आबादी है.’उन्होंने कहा , ‘हालांकि देश कौशल एवं शिक्षा के मामले में काफी पीछे रह जाता है.’

बॉर्ज ब्रेंडे ने कहा कि भारत चौथी औद्योगिक क्रांति का नेतृत्व कर सकता है तथा इसके साथ ही अपनी वृद्धि एवं विकास की गुणवत्ता तथा टिकाऊपन को बेहतर कर सकता है.

विश्व आर्थिक मंच ने पहले ही मुंबई में सेंटर फॉर दी फोर्थ इंडस्ट्रियल रिवोल्यूशन बनाने के लिए भारत सरकार के साथ भागीदारी की हुई है. ब्रेंडे ने कहा कि यह केंद्र इस साल के उत्तरार्द्घ में शुरू हो जाएगा.

Leave a Comment