व्यापार

निफ्टी 11450 के नीचे बंद, सेंसेक्स 468 अंक टूटा

निफ्टी 11450 के नीचे बंद, सेंसेक्स 468 अंक टूटा

रुपये की तेज गिरावट से बाजार में भारी बिकवाली का दिन रहा। सेंसेक्स 450 अंकों से ज्यादा टूटकर बंद हुआ। वहीं निफ्टी गिरकर 11,450 के नीचे आ गया है। सेंसेक्स और निफ्टी में 1.25 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। निफ्टी ने आज 11,427.3 तक गोता लगाया था जबकि सेंसेक्स 37,883 तक टूटा था।

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी भारी बिकवाली का दबाव देखने को मिला है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 1.7 फीसदी गिरकर 16,228 के स्तर पर बंद हुआ है। निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स में 1.7 फीसदी की गिरावट के साथ 19,242 के स्तर पर बंद हुआ है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 1 फीसदी की कमजोरी के साथ 16,717 के स्तर पर बंद हुआ है।

आज निफ्टी के लगभग सभी सेक्टर इंडेक्स लाल निशान में ही बंद हुए हैं। बैंकिंग, ऑटो, एफएमसीजी, मेटल, रियल्टी, कंज्यूमर ड्युरेबल्स, कैपिटल गुड्स, ऑयल एंड गैस और पावर शेयरों में जमकर बिकवाली दिखी है। बैंक निफ्टी 1 फीसदी की गिरावट के साथ 27,202 के स्तर पर बंद हुआ है। निफ्टी का पीएसयू बैंक इंडेक्स 2.2 फीसदी टूटा है।

बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 468 अंक यानि 1.25 फीसदी की गिरावट के साथ 37,922 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं, एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 151 अंक यानि 1.3 फीसदी गिरकर 11,438 के स्तर पर बंद हुआ है।

आज दिग्गज शेयरों में बजाज फाइनेंस, इंडियाबुल्स हाउसिंग, सन फार्मा, बजाज फिनसर्व, महिंद्रा एंड महिंद्रा, वेदांता, एसबीआई और इंडसइंड बैंक 4.7-2.2 फीसदी तक लुढ़क कर बंद हुए हैं। हालांकि दिग्गज शेयरों में एचसीएल टेक, एक्सिस बैंक, जी एंटरटेनमेंट, सिप्ला, विप्रो और गेल 1.4-0.15 फीसदी तक चढ़कर बंद हुए हैं।

मिडकैप शेयरों में टोरेंट पावर, बर्जर पेंट्स, हैवेल्स इंडिया, अदानी एंटरप्राइजेज और अदानी पावर 6-4 फीसदी तक गिरकर बंद हुए हैं। हालांकि मिडकैप शेयरों में मैक्स फाइनेंशियल, जीएसके फार्मा, एबीबी और व्हर्लपूल 6.4-1.4 फीसदी तक उछलकर बंद हुए हैं।

स्मॉलकैप शेयरों में आईएलएंडएफएस ट्रांसपोर्ट, भारतीय इंटरनेशनल, आईआईएफएल होल्डिंग्स, आधुनिक इंडस्ट्रीज और एलटी फूड्स 13.8-6.3 फीसदी तक टूटकर बंद हुए हैं। हालांकि स्मॉलकैप शेयरों में लायका लैब्स, त्रिवेणी इंजीनियरिंग, हैथवे केबल, सिगनेट इंडस्ट्रीज और संदेश 20-12.1 फीसदी तक मजबूत होकर बंद हुए हैं

Leave a Comment