व्यापार

RBI की रिपोर्ट: देश के 64 बैंकों में पड़े 11,300 करोड़ की राशि लावारिश

rbi

नई दिल्ली। बैंकों को लेकर लगातार कई जानकारियां सामने आ रही है। एक ओर आरबीआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि बैंकों में ग्राहकों के धन में से सिर्फ एक लाख रुपया ही सुरक्षित है। वहीं, दूसरी खबर यह सामने आई है कि देश के 64 बैंकों के 3 करोड़ से ज्यादा खातों में जमा 11,300 करोड़ रुपयों का कोई दावेदार ही नहीं है। इस दावेदारी वाले खातों में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सबसे आगे हैं।

ये राशि ऐसे अकाउंट होल्डर की होती है जिनका निधन हो चुका है या फिर उनके पास कई एकाउंट है और वो अपने खाते के बारे में अवगत नहीं है।

आरबीआई के अनुसार एसबीआई में सबसे ज्यादा 1262 करोड़ रुपये, क्रमश: पीएनबी में 1250 करोड़ राशी निष्क्रिय खतों में पड़े हैं। इसके अलावा सरकारी बैंकों में 7,040 करोड़ रुपए बिना दावेदारी के है। वहीं प्राइवेट 19 बैंकों के खतों में 1,416 करोड़ रूपए है जिनका कोई दावेदार नहीं है।

बैंकिग रेग्युलेशन एक्ट के अनुसार हर कैलेंडर इयर के खत्म होने के 30 दिनों के भीतर आरबीआई को ऐसे खातों के बारे में जानकारी देनी होती हैं जिनका इस्तेमाल पिछले कई सालों से नहीं किया जा रहा है। बिन दावेदारी वाले खातों की राशि को डिपॉजिटर ऐजुकेशन ऐंज अवेयरनेस फंड में डाल दिया जाता है। हालांकि खाताधारक अपनी राशि पर 10 साल बाद भी दावा कर सकता है। बैंक इस रकम को वापस करने के लिए बाध्य है।

Article RBI की रिपोर्ट: देश के 64 बैंकों में पड़े 11,300 करोड़ की राशि लावारिश took from Puri Dunia | पूरी दुनिया.

Leave a Comment