हेल्थ

कम सोने वाले लोगों में बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा

कम सोने वाले लोगों में बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा

यूनिवर्सिटी ऑफ गोथेनबर्ग के एक नए अध्ययन में खुलासा हुआ है कि अगर आप रात में कम नींद लेते हैं तो यह आपके लिए खतरे की घंटी हो सकती है। क्योंकि पांच घंटे से कम समय के लिए सोने वाले अधेड़ उम्र के पुरूषों में दिल का दौरा पड़ने या आघात होने का खतरा सामान्य से दोगुना बढ़ जाता है।

पहले के अध्ययन में इस बात के स्पष्ट सबूत नहीं थे कि क्या कम नींद लेने का संबंध भविष्य में दिल की बीमारी होने से जुड़ा है। इस बार 50 वर्ष की आयु वाले पुरुषों पर इस खतरे का अध्ययन किया गया है।

स्वीडन में यूनिवर्सिटी ऑफ गोथेनबर्ग के मोआ बेंगटसन ने कहा, बेहद व्यस्त रहने वाले लोगों के लिए सोना समय बर्बाद करने जैसा हो सकता है लेकिन हमारे अध्ययन के अनुसार कम नींद लेने से भविष्य में दिल की बीमारी होने का खतरा हो सकता है। वर्ष 1993 में इस अध्ययन में भाग लेने के लिए 1943 में जन्मे और गोथेनबर्ग में रह रहे पुरुषों की 50% आबादी में से इन लोगों को रैंडम तौर पर चुना गया था।

अध्ययन में पाया गया कि रात में 5 घंटे या उससे कम समय तक सोने वाले पुरुषों में उच्च रक्त चाप, मधुमेह, मोटापा, कम शारीरिक गतिविधि और खराब नींद की समस्या आम पाई गई। मोआ ने कहा कि यह अध्ययन बताता है कि नींद बेहद जरूरी है और यह हम सभी के लिए खतरे की घंटे होना चाहिए।

Article कम सोने वाले लोगों में बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा took from India’s Fastest Hindi News portal.

Leave a Comment