बिहार

लाखों श्रद्धलुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

पटनाः लाखों श्रद्धालुओं ने कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर बिहार में गंगा-गंडक के संगम समेत विभिन्न नदियों और सरोवरों में आस्था की डुबकी लगायी तथा मंदिरों में पूजा-अर्चना की। कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर राजधानी पटना में देर रात से ही ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोगों के आने का सिलसिला शुरु हो गया। गंगा तटों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए राष्ट्रीय आपदा प्रबंध बल और राज्य आपदा प्रबंधन बल के जवान संयुक्त रुप से नौकाओं से निगरानी में रहे।
कार्तिक पूर्णिमा के दिन ऐहतियात के तौर पर प्रशासन की ओर से निजी नौकाओं के गंगा नदी में परिचालन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया। राजधानी पटना में काली घाट, कृष्णा घाट, गांधी घाट, पटना कॉलेज घाट समेत विभिन्न घाटों पर तड़के से आस्था की डुबकी लगाने वालों का तांता लगा रहा। स्नान के बाद लोगों ने विभिन्न मंदिरों में पूजा अर्चना की और दान किया। कार्तिक पूर्णिमा को लेकर प्रशासन की ओर से सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये गये। विभिन्न घाटों पर सादे लिवास में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गयी। श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए जहां पुलिस जवान चौकस दिखे वहीं सड़कों पर यातायात को नियंत्रित करने के ट्रैफिक पुलिस के जवान मुस्तैद रहे।
हाजीपुरः हाजीपुर से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार गंगा-गंडक के संगम पर करीब डेढ़-दो लाख श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगायी और प्रसिद्ध बाबा हरिहर नाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की।
भागलपुरः भागलपुर से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार सुल्तानगंज स्थित उत्तर वाहिनी गंगा नदी में हजारों श्रद्धालुओं ने पवित्र डुबकी लगायी और पहाड़ पर स्थिति बाबा अजगैबी नाथ मंदिर में पूजा अर्चना की। इसके अलावा कहलगांव, भागलपुर शहर और नाथ नगर में भी लोगों ने गंगा नदी में पवित्र स्नान कर पूजा अर्चना की।
भीड़ वाले घाटों पर प्रशासन की ओर से सुरक्षा की व्यवस्था की गई। उत्तर बिहार में भी लाखों लोगों ने बूढ़ी गंडक,कमला और कोसी नदियों में कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पवित्र स्नान किया और मंदिरों में पूजा अर्चना की।
सीएम ने दी बधाई
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कार्तिक पूर्णिमा एवं गुरूनानक जयंती के अवसर पर लोगों को बधाई एवं शुभकामनायें दी है।

Leave a Comment