बिहार

जीपीएस सिस्टम के खेल से वाहन चालक हो रहे परेशान, लॉक खोलने के नाम अवैध वसूली

जीपीएस सिस्टम के खेल से वाहन चालक हो रहे परेशान, लॉक खोलने के नाम अवैध वसूली

जीपीएस सिस्टम की काली खेल से वाहन चालक हो रहे परेशान, लॉक खोलने के नाम पर होती है राशि की अवैध वसूली

आरा(डिम्पल राय)। सूबे में बालू खनन व भंडारण पर रोक लगने से जहा पूरे राज्य में हाहाकार मच गई थी। वही जैसे ही बालू खनन व भंडारण से रोक हटी मानो आम से लेकर खाश तक के लोग राहत की सांस ली। इसके बाद सरकार ने बालू के कलाबजारी रोकने के लिए वाहनो में जीपीएस सिस्टम लगाने की व्यवस्था प्रभावी ढंग से लागू कर दी, लेकिन इस सुनहरे बालू के काली खेल में कम्पनी के द्वारा तैनात नुमाइंदे द्वारा जीपीएस के लॉक खोलवाने के लिए वाहन चालकों से मनमाने राशि वसूलकर भोले भाले लोगो को चुना लगा रहे है। जबकि वाहनों में लगे जीपीएस एक बार निश्चित रकम लेकर लगा दी जाती है इसके बाद वाहन चालकों को कोई राशि अदा नही करनी होती है। बावजूद इसके वाहन चालकों से अवैध राशि की वशूली चरम पर है। इस काली कमाई को रोकने वाला शायद कोई नही है, जो इस काली कमाई को रोक सके। ज्ञातव्य हो कि बालू की अवैध ढुलाई एवं उत्खनन पर रोक लगाने के लिए मालवाहक वाहनों में ईलॉक एवं जीपीएस सिस्टम लगाया गया था। खान एवं भूतत्व मंत्रालय द्वारा तैयार किए गए इससे संबंधित प्रस्ताव को राज्य सरकार के स्तर से स्वीकृति मिलने के बाद बालू की ढुलाई करने वाले सभी मालवाहक वाहनों को ईलॉक एवं जीपीएस से लैस कर दिया गया। ईलॉक सिस्टम लागू होने से घाट से बालू उठाव करने के बाद डिपो में भंडारित करने के साथ ही खुदरा विक्रेता तक इसके वितरण पर मुख्यालय स्तर से नजर रखी जाती है। इस प्रणाली से बालू के ओवर लोडिंग एवं कृत्रिम किल्लत पर भी रोक लगाई जाएगी। जीपीएस सिस्टम से बालू लदे वाहनों के मूवमेंट पर भी नजर रहेगी। बालू उठाव के बाद खनन विभाग के पदाधिकारियों की मौजूदगी में वाहनों को ईलॉक कर दिया जाएगा। बालू अथवा खनिज की ढुलाई करने वाले वाहनों पर ई-लॉक सिस्टम तथा जीपीएस से युक्त नहीं पाये जाने पर अधिनियम में निहित प्रावधानों के मुताबिक कड़ी कार्रवाई का प्रावधान है साथ ही सामानों की जब्ती के बाद उसकी नीलामी भी की जा सकती है। इन सब नियमो के बावजूद भी कम्पनी के नुमाइंदे जीपीएस सिस्टम के लॉक को खोलने के लिए जबरन मुह मांगे पैसे की मांग करते है। जबकि एक बार जीपीएस सिस्टम लगाने के समय पूरे पैसे दिए जाते है जिसका लॉक खोलने के लिए कोई राशि का भुगतान नही करना होता है जिसे फ्री में लॉक खोलने का प्रावधान है।

Leave a Comment