दिल्ली

इस समस्या को दूर करने के लिए 1.5 लाख नौकरियां खत्म कर सकती है आर्मी

इस समस्या को दूर करने के लिए 1.5 लाख नौकरियां खत्म कर सकती है आर्मी

नई दिल्‍लीः भारतीय सेना बड़े पैमाने पर नौकरियों में कटौती कर सकती है । भारतीय सेना हथियारों की ख़रीद का हवाला दिया है यदि सेना नये हथियार खरीदती है तो अगले पांच साल में 1.5 लाख जवानों की कटौती हो सकती है। सेना इस समय हथियारों की कमी से जूझ रही है।

सैन्य अधिकारियों के मुताबिक नौकरियों को समाप्‍त करने से सेना को 5,000 से 7,000 करोड़ रुपये तक की बचत होगी, जिसका इस्‍तेमाल वह आधुनिक हथियार खरीद में कर सकते हैं। साथ ही हथियारों के रख-रखाव पर भी ज्‍यादा खर्च किया जा सकेगा।

इतनी नौकरियां खत्‍म करने से सेना के पास लगभज 31,826 से 33,826 हजार करोड़ रुपये खर्च करने के लिए प्रयाप्त हो जायेंगे। गौरतलब है कि रिटायर्ड जवानों और अधिकारियों के पेंशन के लिए अलग से फंड निर्धारित किया जाता है। सेना के वरिष्‍ठ अधिकारी इसके पहले समय-समय पर संसदीय समिति के समक्ष बजट को लेकर अपनी समस्या बता चुके हैं।

सूत्रों के मुताबिक सेना के पास मैनपॉवर कम करने का प्रस्‍ताव आया है, लेकिन यह फिलहाल विचार-विमर्श के स्‍तर पर ही है। इसे अभी तक स्‍वीकार नहीं किया गया है। मालूम हो कि सेना से हर साल 60,000 सैन्‍यकर्मी रिटायर होते हैं, ऐसे में यदि सेना को मैनपॉवर में कटौती करनी होगी तो कुछ साल तक वार्षिक भर्तियों को बंद करना पड़ेगा या फिर उसमें कटौती करनी होगी।

ये भी पढ़ें……रघुराम राजन ने बताया यूपीए सरकार में इस समय हुई थी सबसे ज्यादा लूट

अधिकारियों के मुताबिक जवानों की कटौती का लक्ष्य सेना के प्रत्येक विभाग के पुनगर्ठन से प्राप्त होगा । इनमें सैन्य मुख्यालय निदेशालय, रणनीतिक प्रभाग, संचार अवस्थापना, मरम्मत विभाग, प्रशासनिक विभाग और सहायक क्षेत्र आते हैं।

Article इस समस्या को दूर करने के लिए 1.5 लाख नौकरियां खत्म कर सकती है आर्मी took from Puri Dunia | पूरी दुनिया.

Leave a Comment