दिल्ली

सीलिंग के खिलाफ अनशन पर नहीं बैठेंगे केजरीवाल

सीलिंग के खिलाफ अनशन पर नहीं बैठेंगे केजरीवाल

नई दिल्ली। राजधानी में सीलिंग को लेकर व्यापारियों का समर्थन करने के लिए अनशन करने जा रहे केजरीवाल अपने कदम से पीछे हट गए हैं। उनके ऐसा करने से व्यापारियों में भारी नाराजगी है और उन्होंने मुख्यमंत्री का इस्तीफा मांग लिया है। अपनी बात से पलटने के लिए मशहूर हो चुके मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक बार फिर पलट गए हैं। वह अब अमर कॉलोनी व लाजपत नगर में व्यापारियों के साथ अनशन नहीं करेंगे।

जबकि 9 मार्च को अमर कॉलोनी में जाकर उन्होंने घोषणा करते हुए सीलिंग से त्रस्त व्यापारियों को आश्वस्त किया था कि 31 मार्च तक सीलिंग नहीं रुकी तो वह व्यापारियों से बीच आकर सीलिंग के विरोध में अनशन पर बैठेंगे। जब केजरीवाल के अनशन को लेकर लोगों में उत्सुकता बढ़ी और व्यापारी व पत्रकार यह जानने की कोशिश में लग गए कि क्या केजरीवाल सीलिंग के विरोध में अनशन पर बैठेंगे? चारों ओर से आ रहे सवालों पर आम आदमी पार्टी ने शाम को प्रेस रिलीज जारी कर कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अनशन पर नहीं बैठेंगे।

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा है कि मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि अगर 31 मार्च 2018 तक सीलिंग नहीं रुकी तो वह अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करेंगे। लेकिन पार्टी बताना चाहती है कि 2 अप्रैल से सुप्रीम कोर्ट सीलिंग के मामले पर हर रोज सुनवाई करने जा रहा है। दिल्ली सरकार ने इस मामले में दो अच्छे वरिष्ठ अधिवक्ताओं को नियुक्त भी किया है। लिहाजा कई वकीलों व व्यापारिक संगठनों की सलाह है कि ऐसी स्थिति में मुख्यमंत्री का अनशन पर बैठने का फैसला अदालत को नाराज भी कर सकता है। मुख्यमंत्री ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अभी के लिए अपने निर्णय को स्थगित कर दिया है।

Article सीलिंग के खिलाफ अनशन पर नहीं बैठेंगे केजरीवाल took from India’s Fastest Hindi News portal.

Leave a Comment