दिल्ली

संसद से रिटायर हो रहे, बिना बोले सचिन और रेखा

संसद से रिटायर हो रहे, बिना बोले सचिन और रेखा

नई दिल्ली: सचिन तेंदुलकर और रेखा बतौर राज्य सभा के मनोनीत सदस्य अपना कार्यकाल पूरा कर लिया है। संसद में राज्यसभा से रिटायर हो रहे 85 सांसदों के लिए विदाई समारोह रखा गया, पीएम मोदी ने राज्यसभा के सेवानिवृत्त हो रहे सदस्यों को आज उनके आगे के जीवन के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सदन में हंगामे के कारण वे ट्रिपल तलाक पर रोक विधेयक जैसे ऐतिहासिक एवं महत्वपूर्ण फैसलों पर निर्णय की प्रक्रिया में हिस्सा लेने से वंचित रह गए।उच्च सदन ने अपने सेवानिवृत्त हो रहे सदस्यों को आज विदाई दी।

पीएम ने इस दौरान क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर का भी नाम लिया। सचिन के नाम क्रिकेटर में तो कई विश्व रिकार्ड बनाये लेकिन लेकिन वे राज्यसभा में बिना कोई रिकॉर्ड बनाए रिटायर हो रहे हैं।अप्रैल में सचिन की राज्यसभा से विदाई हो जाएगी। वे सदन में एक बार भी नहीं बोले। वहीं अभिनेत्री रेखा भी सांसद के किरदार अच्छे से नहीं निभा पाई

सचिन 27 अप्रैल 2012 को राज्यसभा के लिए मनोनीत हुए थे। पिछले शीतसत्र में वे कुछ बोलना चाहते थे लेकिन हंगामे के कारण बोल नहीं सके। उनकी अटेंडेंस भी राज्यसभा में 8% ही रही।

राज्यसभा में अभिनेत्री रेखा ने 27 अप्रैल 2012 को कदम रखा था लेकिन उन्होंने अपने अब तक के पूरे कार्यकाल में कोई सवाल नहीं पूछा। इतना ही नहीं उनकी हाजिरी 78% राष्ट्रीय औसत के मुकाबले केवल 5% रही।

Leave a Comment