महाराष्ट्र

पाकिस्तानी चीनी को लेकर महाराष्ट्र में बवाल

पाकिस्तानी चीनी को लेकर महाराष्ट्र में बवाल

 

मुंबई:  पाकिस्तान से शक्कर आयात करने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। सोमवार को एनसीपी कार्यकर्ताओं ने ठाणे के एक गोदाम में धावा बोलकर बोरियां फाड़कर कई कुंतल पाकिस्तानी शक्कर बर्बाद कर डाली तो वहीं मनसे कार्यकर्ताओं ने नवी मुंबई के एपीएमसी मार्केट में मोर्चा निकाल कर विरोध जताया। इस दौरान गुस्साए मनसे कार्यकर्ताओं ने पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की फोटो और पाकिस्तान का झंडा जलाकर विरोध जताया। कांग्रेस ने भी इस मामले को लेकर सरकार के खिलाफ कड़ी नाराजगी जताई है।
एनसीपी विधायक जितेंद्र अव्हाड के नेतृत्व में सैकड़ो कार्यकर्ताओं ने उस गोदाम को ढूंढ निकाला, जहां पाक से मंगाई गई शक्कर की खेप रखी गई थी। एनसीपी कार्यकर्तार्ओं ने शक्कर की बोरियां फाड़ डाली। अव्हाड के मुताबिक पाक से चीनी आयात करना अर्थात देश के किसानों के बर्बाद करना है। पाक की शक्कर हम नहीं बिकने देंगे। मोदी सरकार ने पहले से परेशान किसानों के जख्मों पर नमक छिड़का है। एनसीपी मुखिया और पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार ने आयातित शक्कर पर अतिरिक्त शुल्क लगाने की मांग की है। विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष दिलीप वलसे पाटिल के मुताबिक देश में बड़े पैमाने पर शक्कर का उत्पादन हुआ है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में अधिक चीनी आने से उसका दाम गिर गया है। इससे शक्कर कारखाने और किसान दिक्कत में आ गए हैं। देश में लगभग 319 लाख टन शक्कर का उत्पादन हुआ है। पिछले साल की शक्कर भी बची हुई है।
विधान परिषद में विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे का कहना है जो शक्कर पाकिस्तान से आई है, उसमें भारतीय जवानों का खून लगा है, हम यह शक्कर नहीं खाएंगे। लगता है पीएम मोदी का सीना 56 इंच से घटकर 12 इंच हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने भी नाराजगी जताते हुए कहा है कि अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद को पाक से वापस न ला पाने वाली सरकार वहां से चीनी ले आई है। प्रधानमंत्री मोदी को भारतीय किसानों से ज्यादा चिंता पाकिस्तानी किसानों की है। उन्होंने शिवसेना को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जिस पार्टी को पाकिस्तान के कलाकार पसंद नहीं है, उसे पाक की चीनी कैसे भा रही है।
इधर मनसे शहराध्यक्ष गजानन काले के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। नवी मुंबई के एपीएमसी मार्केट के व्यापारियों को हिदायत दी गई कि वे पाक चीनी की बिक्री न करें। व्यापारियों पत्र देकर यह अपील की गई। अन्यथा कानून हाथ में लेने की धमकी मनसे कार्यकर्ताओं ने दी है। मुंबई शक्कर एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक जैन को भी मनसे ने लेटर दिया है। इधर व्यापारियों ने पाकिस्तानी चीनी का बहिष्कार करके देशभक्ति साबित करने का भरोसा दिलाया है।
इस दौरान मनसे कार्यकतार्ओं ने मार्केट परिसर में पाक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कार्यकर्ताओं ने नवाज शरीफ की फोटो और पाकिस्तानी झंडा जलाकर विरोध जताया। धमकी दी गई है कि जहां भी पाकिस्तानी चीनी रखी मिलेगी, उस गोदाम को आग लगा दी जाएगी। काले ने बताया कि 60 से 65 लाख मैट्रिक टन से ज्यादा शक्कर नई मुंबई के एपीएमसी मार्केट में लाए जाने की खबर है। राज्य में बड़े पैमाने पर शक्कर का उत्पादन हुआ है। यैसे में पाक से चीनी आयात करके मोदी सरकार ने किसानों और कारखाना मालिकों के पीठ में छूरा घोंपा है। मनसे यह साजिश सफल नहीं होने देगी। राज्य में पाकिस्तानी शक्कर नहीं बिकने दी जाएगी।

Leave a Comment