महाराष्ट्र

अमित शाह से मुलाकात से पहले उद्वव ठाकरे का बड़ा ऐलान, कहा- 2019 में अलग चुनाव लड़ेंगे

अमित शाह से मुलाकात से पहले उद्वव ठाकरे का बड़ा ऐलान, कहा- 2019 में अलग चुनाव लड़ेंगे

मुंबई। उपचुनावों में मिली करारी हार के बाद बीजेपी को अपने सहयोगियों की याद सता रही है। इसके तहत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने संपर्क अभियान शुरु किया है। जिसके तहत वह आज शिवसेना प्रमुख उद्वव ठाकरे से मुलाकात करेंगे। वहीं इस मुलाकात से पहले उद्वव ठाकरे ने बयान जारी करते हुए कहा है कि वह 2019 को लोकसभा चुनावों में अकेले ही हिस्सा लेंगे। उद्वव ठाकरे ने पार्टी के मुखपत्र सामना के माध्यम से बीजेपी पर हमला बोलते हुए लिखा कि अमित शाह इन चुनावों में किसी भी तरह से 350 सीटें जीतना चाहते हैं।

सामना के माध्यम से बीजेपी पर निशाना साधते हुए उद्वव ने लिखा कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हुए हैं, किसान सड़क पर हैं, इसके बावजूद बीजेपी चुनाव जीतना चाहती है. शिवसेना ने कहा कि जिस तरह बीजेपी ने साम, दाम, दंड, भेद के जरिए पालघर का चुनाव जीता उसी तरह बीजेपी किसानों की हड़ताल को खत्म करना चाहती है. चुनाव जीतने की शाह की जिद को हम सलाम करते हैं.

इसके अलावा पार्टी के इस मुखपत्र में भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए लिखा गया कि एक ओर जहां मोदी पूरी दुनिया में घूम रहे हैं, वहीं शाह पूरे देश में घूम रहे हैं. बीजेपी को उपचुनावों में हार मिली है, क्या इसलिए अब उसने सहयोगी पार्टियों से मिलना शुरू कर दिया है. भले ही अब वह कनेक्शन बनाने की कोशिश करे, लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है. उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू नायडू एनडीए छोड़ गए, नीतीश कुमार भी अलग बयान दे रहे हैं.

लोकसभा चुनाव-2019 में जहां विपक्ष एकजुट होकर भाजपा की सत्ता को उखाड़ फेंकने की जद्दोजहद में लगी हुई है। वहीँ भाजपा नीत राजग के कई घटक ही केंद्र सरकार से नाराज चल रहे हैं, कई घटक तो बगावती रुख अपनाने हुए केंद्र सरकार पर बराबर हमला तक कर रहे हैं। इसी वजह से भाजपा अपने रूठे हुए सहयोगियों को मनाने की कवायद में जुट गई है। इसी कड़ी में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बुधवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाक़ात करेंगे।

बीते काफी समय से भाजपा और शिवसेना के संबंधों में खटास देखने को मिल रही है। शिवसेना महाराष्ट्र की भाजपा सरकार और केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ बराबर हमला बोले हुए है। कभी किसानों का मुद्दा उठाते हुए तो कभी पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों को लेकर शिवसेना बराबर भाजपा सरकार को आड़े हाथों ले रही है। यह वही शिवसेना है जिसने बीते दिनों खुद को भाजपा का सबसे बड़ा दुश्मन करार दिया था।

केवल इतना ही नहीं शिवसेना ने बीते दिनों यह भी साफ़ कर दिया था कि अब वह भाजपा के साथ मिलकर कोई चुनाव नहीं लड़ेगी। बीते दिनों हुए पालघर उपचुनाव में ऐसा हुआ भी। इस उपचुनाव में भाजपा और शिवसेना ने एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ा था।

Article अमित शाह से मुलाकात से पहले उद्वव ठाकरे का बड़ा ऐलान, कहा- 2019 में अलग चुनाव लड़ेंगे took from Puri Dunia | पूरी दुनिया.

Leave a Comment