अन्य

कॉलेज औऱ विश्वविद्यालय की गलती से छात्रा हुई आत्महत्या करने के लिए मजबूर

कॉलेज औऱ विश्वविद्यालय की गलती से छात्रा हुई आत्महत्या करने के लिए मजबूर

नैनीताल। उत्तराखंड में कॉलेज औऱ विश्वविद्यालय की गलती की वजह से एक छात्रा हताश होकर आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो गई। इस घटना में प्रशासन ने छात्रा के रिपोर्ट कार्ड असाइनमेंट के नंबर नहीं चढ़ाए थे, जिस वजह से वह काफी परेशान थी। जब लाख कोशिशों के बाद उसे सफलता नहीं मिली तो उसने हताश होकर यह खतरनाक कदम उठा लिया। छात्रा को आनन फानन वहीं बृजेश हॉस्पिटल में लाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे आइसीयू में रखा है।

इस घटना में मिली जानकारी के मुताबिक मोहल्ला खताड़ी निवासी आसमा पुत्री इमाम बक्श ने पीएनजी कॉलेज में बीए तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा दी थी। लेकिन अंकपत्र में इंग्लिश लिटरेचर के असाइनमेंट के नंबर नही चढ़े थे। उसने पीएनजी कॉलेज में इसकी शिकायत की। कॉलेज से उसे बताया कि विश्वविद्यालय से ही अंकपत्र में नंबर नहीं चढ़े हैं।

इसपर छात्रा ने कुमाऊं विश्वविद्यालय में संपर्क किया। विश्वविद्यालय से बताया गया कि कॉलेज से ही उसके असाइनमेंट के नंबर नहीं आये हैं। सुनवाई नहीं होने से परेशान छात्रा ने घर में विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। परिजन उसे निजी हॉस्पिटल लेकर गए। जहां उसका उपचार चल रहा है। इधर, कॉलेज के परीक्षा प्रभारी संजय कुमार ने बताया कि असाइनमेंट के नंबर कॉलेज को देर से प्राप्त हुए, तब तक अंकपत्र तैयार हो गए थे। छात्रा का नया अंकपत्र जल्द कॉलेज को मिल जाएगा।

Article कॉलेज औऱ विश्वविद्यालय की गलती से छात्रा हुई आत्महत्या करने के लिए मजबूर took from Puri Dunia | पूरी दुनिया.

Leave a Comment