अन्य

जायजा– राष्ट्रीय कैंसर संस्थान— केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी.नड्डा

Capture

बाढ़सा (बादली)———– केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जे.पी.नड्डा ने कहा कि बाढ़सा में निर्माणाधीन अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवाओं से परिपूर्ण राष्ट्रीय कैंसर संस्थान तय समय सीमा में बनकर तैयार होगा और जल्द ही इसे जन सेवा को समर्पित कर दिया जाएगा। रिकार्ड समय में तैयार किए जा रहे इस संस्थान में कैंसर रोग के इलाज करने के साथ ही कैंसर जैसी बीमारी की रोकथाम में भी अहम भूमिका निभाएगा।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री नड्डा शुक्रवार को प्रदेश के कृषि मंत्री औमप्रकाश धनखड़ के साथ बाढ़सा एम्स परिसर में निर्माणाधीन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान भवन का निरीक्षण कर रहे थे। उन्होंने राष्ट्रीय कैंसर संस्थान परिसर में ओपीडी ब्लाक, प्रशासनिक ब्लाक, ओटी ब्लाक, रेडियोलोजिकल सैक्शन, रिहायशी ब्लाक व गेस्ट हाऊस परिसर का जायजा लिया।

आऊटरिच ओपीडी एम्स परिसर के सभागार में एम्स प्रशासन, जिला प्रशासन व निर्माण एजेंसी के अधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक कर पूरी रूपरेखा जानी और निर्माण कार्य को और अधिक गति देने के लिए संबंधित अधिकारियों को प्रोत्साहित किया वहीं शेष कार्य को मिशन के रूप में पूरा करने के निर्देश दिए।

कृषि मंत्री औमप्रकाश धनखड़ ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का स्वागत करते हुए उन्हें विश्वास दिलाया कि प्रदेश सरकार व स्थानीय प्रशासन की संयुक्त सहभागिता के साथ राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का निर्माण कार्य निर्धारित अवधि में पूरा कराने में पूरा सहयोग दिया जा रहा है।

संस्थान का निरीक्षण करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी.नड्डा ने हरियाणा सरकार विशेषकर कृषि मंत्री औमप्रकाश धनखड़ के विशेष सहयोग से रिकार्ड समय में केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना में सक्रिय भूमिका अदा करने पर खुशी जताई।

उन्होंने बताया कि इसी वर्ष तय समय सीमा में संस्थान का निर्माण कार्य पूरा किया जाएगा और देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा इस प्रतिष्ठित संस्थान को जनसेवा को समर्पित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एम्स परिसर का निर्माण क्षेत्र के विकास की धुरी बनेगा और स्वास्थ्य सेवाओं के रूप में देशवासियों को नई सौगात राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के माध्यम से मिलेगी।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के साथ ही अन्य बड़े प्रोजेक्ट भी प्रस्तावित हैं जिसके उपरांत क्षेत्र ही नहीं अपितु पूरे उत्तर भारत के लिए बाढ़सा क्षेत्र स्वास्थ्य सेवाओं की दृष्टि से कहीं आगे होगा।

प्रदेश के कृषि मंत्री औमप्रकाश धनखड़ ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के समक्ष स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार की कड़ी में राष्ट्रीय केंसर संस्थान केसाथ ही आरोग्य धाम में सामान्य अस्पताल शुरू किए जाने किए की मांग रखी ताकि अन्य बीमारियों का इलाज भी स्थानीय लोगों को मुहैया हो सके। वहीं संस्थान की बेहतर कनेक्टिविटी के लिए नजफगढ़ से मैट्रो लिंक करने, द्वारका एक्सप्रेस वे से बाढ़सा संस्थान को जोडऩे के लिए सड़क मार्ग का विस्तारीकरण करने की मांग रखी। जिस पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री की ओर से ठोस कार्रवाई किए जाने का विश्वास दिलाया गया।

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की ओर से इस क्षेत्र को आरोग्य धाम के रूप में विकसित किया जा रहा है और हर संभव सहयोग वे एम्स को दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि बादली हलके में स्थित इस आरोग्य धाम में मिलने जा रही स्वास्थ्य सेवाएं दुनिया में हैल्थ टूरिज्म के रूप में पहचान कायम करेंगी।

राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के हैड प्रो.जी.के.रथ ने समीक्षात्मक बैठक में केंद्रीय मंत्री श्री नड्डा व प्रदेश के कृषि मंत्री श्री धनखड़ को बताया कि बिल्डिंग निर्माण कार्य अंतिम चरण में है, संस्थान के लिए मशीन खरीद प्रक्रिया को शुरू कर दिया गया है, साथ ही संस्थान के लिए मैडिकल व पैरा मैडिकल स्टाफ की नियुक्ति प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि संस्थान के शुरू होने के साथ ही पहले दिन से ही मैडिकल स्टाफ को आवासीय सुविधा भी बाढ़सा परिसर में ही उपलब्ध कराई जाएंगी। उन्होंने बताया कि संस्थान का अधिकतर निर्माण कार्य अपने अंतिम चरण में है।

उपायुक्त सोनल गोयल ने बैठक में बताया कि जिला प्रशासन व संबधित विभाग निरंतर एम्स व निर्माण एंजेसी के अधिकारियों के साथ तालमेल बनाए हुए हैं और विभागीय जरूरतानुसार निर्माण एजेंसी को पूरा सहयोग दिया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि सभी विभागाध्यक्ष को राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के प्रोजेक्ट से जुड़े कार्य प्राथमिकता आधार पर करने के निर्देश दिए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री जे.पी. नड्डा ने 12 दिसंबर 2015 को बाढ़सा एम्स टू परिसर में राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का भूमि पूजन करते हुए निर्माण कार्य का विधिवत रूप से शुभारंभ किया था। इसके निर्माण कार्य पर लगभग 2035 करोड़ रूपए की लागत आएगी। 710 बैड के इस संस्थान का निर्माण कार्य इसी साल पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

इस मौके पर एम्स की कार्यकारी निदेशक डा.चित्रा सरकार, एम्स के उप निदेशक डा.सुभाशिष पांडा, राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के हैड प्रो.जी.के.रथ, एनसीआई प्रोजेक्ट आफिसर डा.एंजल रंजन सिंह, इंजी.एम.रस्तोगी, एसडीएम बादली त्रिलोकचंद, सरपंच बाढ़सा नरेश देवी सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

Leave a Comment