राजस्थान

‘न्याय आपके द्वार-2018‘–एक लाख से अधिक प्रकरणों का निस्तारण

जयपुर——– जयपुर जिले में राजस्व लोक अदालत-न्याय आपके द्वार अभियान के चौथे चरण में गुरूवार तक उपखण्ड अधिकारी, सहायक कलक्टर एवं तहसीलदारों के स्तर पर आयोजित शिविरों में एक लाख 566 प्रकरणों का निस्तारण किया गया है।

जिला कलक्टर श्री सिद्धार्थ महाजन ने बताया कि उपखण्ड अधिकारियाें एवं सहायक कलक्टर स्तर पर आयोजित शिविरों में 7 हजार 958 एवं तहसीलदारों के स्तर पर शिविरों में 92 हजार 602 प्रकरणों का निस्तारण हुआ है।

जिला कलक्टर ने बताया कि जयपुर जिले में तहसीलदारों के स्तर पर आमेर, किशनगढ़ रेनवाल, कोटखावदा, कोटपूतली, चाकसू, चौमू, जमवारामगढ़, जयपुर, दूदू, फागी, फुलेरा, बस्सी, मौजमाबाद, विराटनगर, शाहपुरा व सांगानेर में गुरूवार को आयोजित 13 राजस्व लोक अदालत शिविरों में 5 हजार 661 प्रकरणों का निस्तारण किया गया है।

इसमें एल.आर.एक्ट 135 के तहत नामान्तकरण के 962, खाता दुरूस्ती के 1490, खाता विभाजन के 180 व सीमाज्ञान के 7, खातेदारी से गैर खातेदारी के 18 प्रकरणाें का निस्तारण किया गया।

कलक्टर ने बताया कि जिले मेें उपखण्ड अधिकारियों एवं सहायक कलक्टर के स्तर पर गुरूवार को आमेर, चौमूं, जमवारामगढ़, दूदू, शाहपुरा, जयपुर द्वितीय, जयपुर प्रथम, सांभर, आमेर, चौमूं, कोटपूतली, फागी, बस्सी, सांगानेर, आमेर, जयपुर, विराटनगर, शाहपुरा, चाकसू उपखण्ड में आयोजित 13 राजस्व लोक अदालत के शिविरों में 346 प्रकरणों का निस्तारण किया गया है।

एक्ट 136 के 84, एक्ट 53 में आपसी सहमति से विभाजन के 38 तथा एक्ट 88 में खातेदारी अधिकार के 59 प्रकरण निस्तारित करते हुए लोगों को लाभान्वित किया गया।

एक्ट 136 के तहत इन्द्राज दुरूस्ती के 84, एक्ट 188 में स्थाई निषेधाज्ञा के 21, इजराय के 20, पत्थरगढ़ी के 15, एक्ट 83, 183 व 212 आर.टी एक्ट के 98 तथा नामान्तरकरण अपील के 4 तथा रास्ते संबंधी 7 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। इनमें 249 पुराने व 97 नये प्रकरण शामिल है।

Leave a Comment