राजस्थान

राजस्‍थान में देर रात तक भी सभी 200 प्रत्याशियों के नाम घोषित नहीं कर पाई भाजपा

राजस्‍थान में देर रात तक भी सभी 200 प्रत्याशियों के नाम घोषित नहीं कर पाई भाजपा

जयपुर। राजस्थान में भाजपा की सीटों को लेकर चल रही उलझन रविवार को भी पूरी तरह सुलझ नहीं पाई। 19 नवंबर को नामांकन भरने की आखिरी तारीख है, लेकिन भाजपा रविवार देर रात तक छह बचे नामों की घोषणा नहीं कर पाई।

रविवार दिन भर चली कवायद के बाद भी भाजपा बाकी बचे 30 में से 24 प्रत्याशियों के नाम ही घोषित कर पाई। रविवार को जारी प्रत्याशियों की चौथी सूची में केवल चार विधायकों को ही फिर से मौका दिया गया।

सरकार के खास मंत्री युनूस खान को इस सूची में भी जगह नहीं मिल पाई। सूत्रों की मानें तो सबसे बड़ा पेंच युनूस खान के नाम को लेकर ही फंसा हुआ है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे उन्हें टिकट देने के लिए अड़ी हुई हैं जबकि संगठन उन्हें टिकट नहीं देना चाहता।

पार्टी ने पिछली सूची में मंत्री बाबूलाल वर्मा का टिकट काटा था, उन्हें चौथी सूची में सीट बदलकर बारां अटरू से मौका दे दिया गया है। इस सूची में कांग्रेस से भाजपा में आए तीन नेताओं को भी पार्टी ने प्रत्याशी बनाया है।

इनमें कांग्रेस सरकार के समय राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रहीं ममता शर्मा को पीपलदा से, कोटा से सांसद रहे इज्येराज सिंह की पत्नी कल्पना राजे को लाडपुरा से और जिला परिषद सदस्य रहे राजेंद्र भामू को झुंझुनूं से टिकट दिया गया है।

जयपुर की हॉट सीट मानी जा रही सांगानेर सीट से पार्टी ने जयपुर के महापौर अशोक लाहोटी को प्रत्याशी बनाया है। विधानसभा में भाजपा के उप मुख्य सचेतक मदन राठौड़ और विवादित बयानों के कारण चर्चा में रहने वाले भवानी सिंह राजावत का टिकट भी काटा गया है।

 

Leave a Comment