राजस्थान

हर क्षेत्र में विकास के कीर्तिमान राजस्थान – मुख्यमंत्री

हर क्षेत्र में विकास के कीर्तिमान  राजस्थान – मुख्यमंत्री

जयपुर——— मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा है कि प्रदेश हर क्षेत्र में कई गुना उन्नति के नए कीर्तिमान अर्जित कर रहा है और प्रदेश की जनता के सहयोग से आने वाले समय में विकास का एक नया इतिहास रचने जा रहा है।

श्रीमती राजे ने पाली जिले के जैतारण में निर्माण एवं विकास कार्याें के लोकार्पण समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज राज्य ने बिजली में छह गुना, सिंचाई, सड़क, कृषि, चिकित्सा शिक्षा में दो-दो गुना, स्कूली शिक्षा में तीन गुना, ग्रामीण विकास में डेढ़ गुना एवं सूचना प्रौद्योगिकी और संचार में देशभर में अव्वल रहते हुए साढे आठ गुना क्षमता संवद्र्धन कर विकास किया है।

मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने अपने सम्बोधन में भामाशाह स्वास्थ्य बीमा, जल स्वावलम्बन अभियान, मुख्यमंत्री राजश्री योजना, अन्नपूर्णा दूध योजना, अन्नपूर्णा रसोई योजना, ऋण माफी योजना, ग्रामीण गौरव पथ योजना, मंदिर जीर्णोद्धार योजना सहित विभिन्न लोककल्याणकारी योजनाओें की उपलब्धियों के बारे में आंकड़ों सहित जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य की पिछडेपन की छवि अब बीते कल की बात हो चुकी है और आने वाले समय में जनसहयोग एवं इच्छाशक्ति से विकास की नए आयाम तय किए जाने हैं।

श्रीमती राजे ने कहा कि प्रदेश सरकार ने हर क्षेत्र में अच्छा काम करके दिखाया है। भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में करीब 24 लाख लोगों को फायदा मिला है।विश्व की सबसे बड़ी प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण की भामाशाह योजना मे प्रदेश के बीपीएल परिवारों के खातों में 21 हजार करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं। शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया प्रारम्भ कर शिक्षकों की कमी को 50 से मात्र 2 प्रतिशत तक लाने का काम किया गया है। बच्चों को शुद्ध दूध पिलाने की योजना प्रारम्भ की गई है।

श्रीमती राजे ने अपने सम्बोधन की शुरूआत जैन संत श्री रूप मुनिजी एवं पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धान्जलि अर्पित करते हुए कहा कि मुनिश्री एक युगपुरूष थे जिनसे आशीर्वाद लेने दुनियाभर से श्रद्धालु आते थे। उन्हाेंंने कहा कि श्री वाजपेयी ने भारत को विश्व में एक अलग पहचान दिलाई और पोकरण परमाणु परीक्षण कर राजस्थान को भी विश्व पटल पर सम्मान दिलाया। लोकार्पण समारोह से पूर्व श्रीमती राजे ने जैतारण के पावनधाम मंंे मुनिश्री जी की समाधि पर शीश नवाया एवं जैन संत सुकुन मुनि सहित अन्य संतों का आशीर्वाद लिया। यहां उन्होंने रूप रजत हैल्थकेयर फाउण्डेशन द्वारा संचालित ‘लैब ऑन व्हील’ वेन का शुभारम्भ भी किया।

महिला को दिया सम्मान से जीने का हक

श्रीमती राजे ने कहा कि प्रदेश सरकार ने आज बेटी के जन्म से लेकर उसकी वृद्धावस्था तक सम्मानपूर्ण जीवन जीने की व्यवस्था कर दी है। जन्म से कक्षा 12वीं तक कुल 50 हजार नकद, पढाई में अच्छे प्रदर्शन पर छात्रा को साइकिल, स्कूटी, लैपटॉप वितरण, परिवार का श्रमिक कार्ड होने पर उसके विवाह के लिए 55 हजार रुपये एवं वृद्धावस्था में पेंशन उसे हक के रूप में प्रदान की रह रही है। अब उसे किसी के सामने हाथ फैलाने की आवश्यकता नहीं है।

दुष्कर्म के मामलों में त्वरित न्याय

श्रीमती राजे ने कहा कि दुष्कर्म के मामले दुःखद हैं। ऎसे मामलों में पूरी गंभीरता बरतते हुए राज्य सरकार ने मार्च 2017 में दुष्कर्म के मामले में अपराधी को फांसी की सजा का प्रावधान किया। केन्द्र सरकार ने भी एक माह में इसे अच्छा कदम बताते हुुए इसकी सराहना की। इसी का परिणाम है कि राज्य में ऎसा पहली बार हुआ कि जब अलवर में दुष्कर्म के अपराधी को मात्र 42 दिन एवं झालावाड़ में दुष्कर्मी को छह माह में ही फांसी की सजा तक पहुंचाया गया है।

40 लाख से अधिक को मिला रोजगार

मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने कहा कि कौशल विकास के लिए औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान खोले गए, 33 रोजगार मेले लगाकर युवाओ को रोजगार दिया गया। अब तक 15-16 लाख युवाओं को रोजगार दिया जा चुका है। उन्होंने कहा कि सरकारी क्षेत्र में लगभग 3 लाख 25 हजार नौकरियां युवाओं को देने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मुद्रा योेजना में स्वरोजगार के लिए 44 लाख लोगों को ऋण दिया गया है और इस प्रकार से प्रदेश के करीब 40 लाख से अधिक लोगाेंं को रोजगार से जोड़ा गया है।

किसानों को दिया सम्बल

श्रीमती राजे ने कहा कि किसान एवं उनके परिवारों को सम्बल प्रदान करते हुए सहकारी बैंकों से जुडे़ लगभग 29 लाख किसानों का 50 हजार रुपये तक का फसली ऋण माफ कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि सहकारी किसानों को फसली ऋण वितरण का आंकड़ा इस वर्ष के अन्त तक 80 हजार करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा। फसली ऋण से जुडे़ किसानों की दुर्घटना बीमा राशि को लगातार बढाते हुए वर्तमान में इसे 10 लाख रु कर दिया गया है। जबकि पांच वर्ष पूर्व यह राशि मात्र 50 हजार थी। इसके साथ ही किसानों को नवम्बर तक 2 लाख कृषि कनेक्शन भी जारी कर दिए जाएंगे।

चिकित्सकों की कमी होगी दूर

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऎसा पहली बार हुआ है कि जब साढे चार साल में प्रदेश में एक साथ 7 मेडिकल कॉलेज खोले गए हैं। कुछ वर्ष बाद इन कॉलेजों से प्रतिवर्ष तैयार होने वाले सात सौ चिकित्सकों के उपलब्ध हो जाने से प्रदेश में चिकित्सकों की कमी पूरी तरह दूर हो जाएगी और प्रदेश की जनता को और भी बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जा सकेंगी।

जल स्वावलम्बन अभियान ः बंजर जमीन पर चार करोड़ की सब्जियां

उन्होंने कहा कि जैतारण क्षेत्र में जल स्वावलम्बन अभियान के परिणामतः पहले बंजर रही जमीन पर करीब चार करोड़ रुपये की सब्जियां पैदा की जा रही हैं। क्षेत्र के 64 प्रतिशत सूखे हैण्ड पम्पों और 25 प्रतिशत कुओं में पानी आया है और जलस्तर में एक से डेढ मीटर तक की बढोतरी हुई है। इसी प्रकार से राज्य के प्रत्येक जिले में इस अभियान के अच्छे परिणाम मिले हैं।

27.88 करोड़ की 5 योजनाओं का लोकार्पण

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ढाई करोड़ रुपये लागत के शहरी गौरव पथ जैतारण, 60 लाख रुपये की लागत के ग्रामीण गौरव पथ गरनिया के निर्माण कार्य का लोकार्पण किया। उन्होंने 22 करोड़ रुपये की लागत से 132 केवी जीएसएस बर, एक करोड़ 30 लाख लागत के प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र आसरलाई एवं एक करोड़ 47 लाख 84 हजार रुपये लागत के शारदे बालिका छात्रावास, जैतारण का लोकार्पण किया।

लाभार्थियों को परिलाभ का वितरण

श्रीमती राजे ने सम्बोधन के बाद शुभशक्ति योजना में पांच छात्राओं को 55-55 हजार रुपये के चैक, दो छात्रों को लैपटॉप वितरण, 11 छात्राओं को साइकिल वितरण, 4 दिव्यांगों को तिपहिया साइकिल वितरण एवं वीर तेजाजी राजीविका स्वयं सहायता समूह, फालका को एक लाख रुपये का चैक प्रदान किया। श्रीमती राजे ने स्वयं सहायता समूह के द्वारा एक करोड़ 92 लाख रुपये का लाभांश अर्जित कर बैंक में जमा करने पर सराहना की।

Leave a Comment