राजस्थान

860 करोड़ रूपये के विकास कार्याें का लोकार्पण/शिलान्यास

1

जयपुर———- मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि इंदिरा गांधी नहरी क्षेत्र का किसान वर्षों से अपने हक के पानी के लिए चिंतित रहता था, आज उस किसान की चिंता हमेशा के लिए खत्म होने जा रही है।

नहरों के जल वितरण के जो सुधार कार्य 50 साल में नहीं हो रहे थे, वे अब पूरे होने जा रहे है। इसके लिए उन्होंने आज ही हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल खट्टर से बातचीत की है। इससे हरियाणा में इंदिरा गांधी नहर की री-लाइनिंग के काम में आ रही बाधाएं दूर होंगी और जल्द ही यह काम शुरू होगा। इससे हमारे किसान भाइयों को सिंचाई के लिए अधिक पानी मिलेगा।

श्रीमती राजे गुरूवार को श्रीगंगानगर में 860 करोड़ रूपये के विकास कार्यों के लोकार्पण/ शिलान्यास समारोह के अवसर पर बड़ी संख्या में उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रही थीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी प्रकार ताजेवाला हैड से यमुना का पानी राजस्थान को मिलने पर भी सहमति बन गई है। यह पानी पाइप लाइन के जरिये राजस्थान लाया जाएगा और इससे प्रदेश के चूरू, सीकर और झुंझुनूं जिले में पेयजल की समस्या का स्थाई समाधान होगा।

रूका पाकिस्तान जाने वाला पानी, लहलहा रहे हमारे खेत

मुख्यमंत्री ने कहा कि गंगनहर और भाखड़ा नहर का विकास हमारी प्राथमिकता है। हमने पिछले चार साल से अधिक समय में नहरी सुधार के कई ऎसे बड़े काम किये जिससे हमारे किसान भाइयों को उनके हक का पूरा पानी मिलेे। गंगनहर क्षेत्र में 264 करोड़ रूपये की लागत से 1 लाख हैक्टेयर से अधिक क्षेत्र में पक्के खालों का निर्माण, भाखड़ा क्षेत्र में 35 करोड़ रूपये की लागत से 20 हजार हैक्टेयर भूमि में पक्के खालों का निर्माण, गंगनहर फीडर को 44 किलोमीटर लम्बाई में पक्का करने, विभिन्न वितरिकाओं के हैड निर्माण तथा लाइनिंग जैसे अनेक महत्वपूर्ण काम किये गये है। नहरों, खालों और वितरिकाओं के पक्के निर्माण करने से पाकिस्तान जाने वाला पानी रूका है और इस पानी से हमारे मेहनतकश किसानों के खेत लहलहा रहेे हैं।

चार साल में 5500 करोड़ के काम

श्रीमती राजे ने कहा कि हमारी सरकार ने श्रीगंगानगर जिले में 5500 करोड़ रूपये के विकास कार्य करवाए है। जबकि पूर्ववर्ती सरकार ने 5 साल में मात्र 1200 करोड़ रूपये के काम करवाए थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि 194 करोड़ रूपये से गंगानगर शुगर मिल जैसे कई बड़े कामों ने श्रीगंगानगर की काया ही पलट दी है।

जो वादा किया उसे पूरा किया

श्रीमती राजे ने कहा कि मैंने शुगर मिल गंगानगर शहर से बाहर स्थानान्तरित करने का जो वादा किया उसे निभाया। उन्होंने कहा कि हमारी कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं है। उन्होंने कहा कि गंगानगर में 165 करोड़ रूपये की लागत से पुराने शुगर मिल परिसर में जो मिनी सचिवालय बनने जा रहा है, वह राजस्थान का पहला ऎसा मिनी सचिवालय होगा जो 7 मंजिला होगा।

यहां सभी विभागों के कार्यालय एक ही स्थान पर स्थापित होने से लोगों को सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि बूढ़ा जोहड़ में बनने वाले पैनोरमा का काम इस साल अगस्त माह तक पूरा हो इसके लिए उन्होंने संबंधित लोगों को निर्देश दिये हैं।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच मिनी सचिवालय का भूमि पूजन किया और इसके नक्शों का अवलोकन किया। उन्होंने समारोह स्थल के बाहर 6 अन्नपूर्णा स्मार्ट वैन का भी शुभारम्भ किया। उन्होंने वहां मौजूद महिलाओं और बच्चों को अपने हाथों से खाना परोसा।

इस अवसर पर जल संसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप, पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद श्री निहालचंद, राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री जसबीर सिंह, विधायक श्रीमती कामिनी जिंदल, श्रीमती शिमला बावरी, श्री राजेन्द्र भादू, जिला प्रमुख प्रियंका श्योरण सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

दिव्यांग बच्चों से की मुलाकात

इससे पहले मुख्यमंत्री ने जगदम्बा अंध विद्यालय जाकर वहां के दिव्यांग बच्चों से मुलाकात की। उन्हाेंने दिव्यांग बच्चाें के साथ बातचीत कर उन्हें दी जा रही सुविधाओं की जानकारी ली। श्रीमती राजे ने विद्यालय परिसर में स्थित ज्योतिर्लिंग श्री नागेश्वर जी महादेव मंदिर में पूजा-अर्चना कर देश व प्रदेश की समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर राज्य अल्पसंख्यक आयोग अध्यक्ष श्री जसबीर सिंह, विधायक श्रीमती कामिनी जिंदल, स्वामी ब्रह्मदेव जी महाराज व विद्यालय समिति निदेशक श्रीमती ऊषा वाधवा उपस्थित रहे।

शक्ति गश्ती दल को किया रवाना

मुख्यमंत्री ने राजस्थान पुलिस की महिला सिपाहियों के एक प्रशिक्षित गश्ती दल (शक्ति) को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। श्रीमती राजे ने कहा कि आज महिलाएं किसी से पीछे नहीं हैं और किसी से कम नहीं हैं। मोटर साइकिल पर सवार नीले रंग की वर्दी में यह शक्ति गश्ती दल शहर में गश्त करेगा। विशेष रूप से शिक्षण संस्थाओं के आसपास छात्राओं के लिये मद्दगार बनने के साथ उनका मनोबल बढ़ाने का कार्य भी करेगा। मोटर साइकिल पर सवार इस दल की महिला पुलिसकर्मी वायरलैस, सायरन इत्यादि से लैस हैं।

इन परियोजनाओं का शिलान्यास/लोकार्पण

क्र.सं. योजना शिलान्यास/लोकार्पण लागत (रू. करोड़ में)

1 मिनी सचिवालय भवन, श्री गंगानगर का निर्माण कार्य भूमि पूजन 165.00
2 श्री गंगानगर शहर की पेयजल योजना का नवीनीकरण व सुदृढ़ीकरण, सीवरेज पाइप लाइन व सीवरेज पम्पिंग स्टेशन इत्यादि का कार्य मय इस वर्ष का संचालन व संधारण शिलान्यास 555.00 करोड़ रू.

3 रेलवे ओवर ब्रिज एलसी-121 लोकार्पण 33.56 करोड़ रू.
4 रेलवे अन्डरब्रिज एलसी-119 लोकार्पण 12.14 करोड़ रू.
5 सीवरेज ट्रीटमेंट प्लान्ट एवं सीवरेज पम्पिंग स्टेशन, सूरतगढ़ रोड, श्रीगंगानगर लोकार्पण 11.09 करोड़ रू.

6 महाराजा गंगासिंह राजकीय स्टेडियम श्रीगंगानगर में सिंथेटिक एथलेेटिक्स ट्रेक (400 मीटर)शिलान्यास 07.30 करोड़ रू.

7 132 के.वी. जी.एस.एस. ततारसर का निर्माण कार्य लोकार्पण 16.00 करोड़ रू.
8 सादुलशहर विधानसभा क्षेत्र में सतही स्त्रोत पर आधारित 12 ग्रामीण जल प्रदाय योजनाओं के जीर्णोद्धार कार्य (चरण-द्वितीय)शिलान्यास 08.91करोड़ रू.
9 अगमेन्टेशन शहरी जलप्रदाय योजना, सूरतगढ़ शिलान्यास 25.86 करोड़ रू.
10 सतही स्त्रोत पर आधारित 16 ग्रामीण जलप्रदाय योजनाओं के जीर्णोद्धार कार्य (चरण-द्वितीय), विधानसभा क्षेत्र सूरतगढ़ शिलान्यास 12.98 करोड़ रू.
11रेलवे अन्डरब्रिज (किमी 142/8-9), सूरतगढ़ लोकार्पण 07.19 करोड़ रू.
12 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, निरयाणा, जिला श्रीगंगानगर के निर्माण कार्य शिलान्यास 05.18 राशि करोड़ रूपए कुल योग 860.21

Leave a Comment