राजस्थान

महिला विधायक ने कहा- दलित होने की वजह से नहीं होती मेरी सुनवाई,जानें क्या है पूरा मामला

महिला विधायक ने कहा- दलित होने की वजह से नहीं होती मेरी सुनवाई,जानें क्या है पूरा मामला

जयपुर। देश में एससी-एसटी आरक्षण को लेकर चारों तरफ बवाल मचा हुआ है। इस बीच एक महिला ने एक बयान देकर पूरी सियासत को गरमाकर रख दिया है। ताजा मामला राजस्थान का है,जहां महिला विधायक ने आरोप लाया है कि उसके दलित होने के कारण प्रशासनिक अधिकारी विधायक कोष की राशि उसे खर्च नहीं करने दे रहे हैं।

महिला विधायक ने कहा कि ‘मैं दलित हूं इसलिए मेरी सुनवाई नहीं होती है। जमींदारा पार्टी की विधायक सोना देवी बावरी ने श्रीगंगानगर जिले के रायसिंहनगर में आंबेडकर जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रशासनिक अधिकारी को आरोपी ठहराते हुए कहां कि  ये लोग जहां चाहें, वहां मेरे हस्ताक्षर करवा लेते हैं। सोनी देवी ने विधानसभा में दलितों के कल्याण के लिए बनी समिति पर भी सवाल उठाए।

इस मामले  के बाद से सियासत काफी गर्मा गई है। गौरतलब है कि कल अंबेडकर जयंती थी इस मौके पर हर राजनितिक पार्टी अपने को दलितों का हितैषी बता रही थी। इसी बीच महिला विधायक ने जब अपनी बात लोगों के बीच में रखी तो अफरा तफरी मच गई। इसके बाद जब मीडिया ने आम जनता से बात की तो लोगों कहा कि जब हमारी विधायक के साथ यह बर्ताव होता है तो इसका अंदाजा लगाया जा सकता है कि आम दलित की यहां क्या स्थिति होगी।

 

 

Article महिला विधायक ने कहा- दलित होने की वजह से नहीं होती मेरी सुनवाई,जानें क्या है पूरा मामला took from Puri Dunia | पूरी दुनिया.

Leave a Comment