राजस्थान

विरोध के भय से वसुंधरा सरकार ने काले कपड़े वालों पर लगाया प्रतिबंध

विरोध के भय से वसुंधरा सरकार ने काले कपड़े वालों पर लगाया प्रतिबंध

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की ‘राजस्थान गौरव यात्रा’ के विरोध और काले झंडे दिखाए जाने के बाद अब सरकारी कार्यक्रमों में काले कपड़े पहन कर आने वालों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। शासन सचिवालय से इस बारे में अनौपचारिक रूप से विभागाध्यक्षों एवं जिला कलेक्टरों को निर्देश जारी किए गए हैं।

शिक्षक दिवस पर पांच सितंबर को होने वाले शिक्षक सम्मान समारोह में भी काले कपड़े पहनकर आने वाले शिक्षकों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। शिक्षकों से कहा गया है कि वह ना तो काले कपड़े पहनकर समारोह स्थल पर आएं और ना ही काला बैग या रूमाल अपने साथ लेकर आएं।

भाजपा सरकार राजस्थान विधानसभा चुनाव से करीब तीन माह पूर्व पांच सिंतबर को होने जा रहे शिक्षक सम्मान समारोह का भी राजनीतिक लाभ लेने के प्रयास में है। इसी के तहत प्रदेश के इतिहास में पहली बार एक साथ 80 हजार शिक्षकों को सम्मानित किया जा रहा है। इनमें नवनियुक्त शिक्षक शामिल होंगे। इन्हे “श्रीगुरुजी सम्मान” से सम्मानित किया जाएगा।

सरकारी योजनाओं के लाभार्थिंयों के बाद अब प्रदेश के 80 हजार शिक्षकों को लाभार्थी के रूप में जयपुर बुलाकर बड़े पैमाने पर समारोह आयोजित करने का मकसद राजनीतिक लाभ लेना ही है। समारोह में उन्हीं 80 हजार शिक्षकों को बुलाया जा रहा है, जिनकी नियुक्ति भाजपा सरकार के कार्यकाल में हुई है। समारोह में कोई भी प्रवेश पत्र दिखाने के बाद ही प्रवेश पा सकेगा।

 

Leave a Comment