भारत

डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट में हुआ खुलासा – दुनिया के सबसे आलसी देशों में इस नंबर पर आते हैं भारतीय

img

मुंबई। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी की जिसमें उन्होंने देशों को उनके आलसीपन और कर्मठता पर आंका है। ये सर्वे 168 देशों मे किया गया था जिसमें कथित रूप से भारत को 117वां स्थान मिला है। वैसे यहां किसी एक इंसान नहीं बल्कि पूरे देश ही बात हो रही है। भारत में आलसी लोगों की भरमार है, मगर फिलहाल हमें यह खिताब नहीं मिला है।

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन यानि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें देशों की रैंकिंग जारी कर बताया गया है कि उनके नागरिक शारीरिक रूप से कितने सक्रिय हैं। भारत को भी इस सूची में जगह मिली है। चिकित्सा पत्रिका द लंसेट में प्रकाशित रिपोर्ट यूगांडा को ऊर्जावान देशों के लिस्ट में सबसे ऊपर रखती है। इसकी केवल 5.5 प्रतिशत आबादी पर्याप्त रूप से सक्रिय नहीं है।
दूसरी ओर, कुवैत, 67 प्रतिशत आबादी के साथ अंतिम स्थान पर है, रिपोर्ट के मुताबिक, यहां के लोग भी पर्याप्त रूप से सक्रिय नहीं रहते यानी वे सबसे आलसी हैं।

168 देशों की सूची में, भारत को रैंक 117 पर एक जगह मिलती है। रिपोर्ट के मुताबिक हमारी आबादी का 34 प्रतिशत पर्याप्त सक्रिय नहीं है। इस बीच, रिपोर्ट में कुवैत, अमेरिकी समोआ, सऊदी अरब और इराक जैसे देशों को इस जगह पर दिखाया गया है कि उनके आधे से अधिक वयस्क पर्याप्त व्यायाम में भाग नहीं लेते हैं। यह भी दिखाता है कि 168 देशों में से 55 (32.7 प्रतिशत) में, आबादी का एक तिहाई से अधिक शारीरिक रूप से सक्रिय था।

168 देशों में से 159 में, महिलाओं की तुलना में पुरुष ज्यादा आलसी हैं। डब्ल्यूएचओ रिपोर्ट के मुताबिक, चार लोगों में एक आदमी पर्याप्त व्यव्याम नहीं करता है। रिपोर्ट में कहा गया है, अपर्याप्त शारीरिक गतिविधि गैर-संक्रमणीय बीमारियों के लिए एक प्रमुख जोखिम है, और इसका मानसिक स्वास्थ्य और जीवन की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। रिपोर्ट 1.9 मिलियन प्रतिभागियों सहित “अपर्याप्त शारीरिक गतिविधि के प्रसार की रिपोर्टिंग” जनसंख्या आधारित सर्वेक्षणों के आंकड़ों का उपयोग करके बनाई गई थी।

Article डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट में हुआ खुलासा – दुनिया के सबसे आलसी देशों में इस नंबर पर आते हैं भारतीय took from India’s Fastest Hindi News portal.

Leave a Comment