उत्तरप्रदेश

लालू यादव को बेटे की शादी के लिए मिली 5 दिन की पेरोल, आज रांची से पटना रवाना हो सकते हैं

लालू यादव को बेटे की शादी के लिए मिली 5 दिन की पेरोल, आज रांची से पटना रवाना हो सकते हैं

रांची. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव को कोर्ट ने पेरोल दे दी है। उन्होंने सोमवार को बेटे की शादी में शामिल होने के लिए 5 दिन की पेरोल मांगी थी। पेरोल मिलने के बाद डॉक्टर लालू को डिस्चार्ज करने की तैयारी में जुट गए हैं। लालू बुधवार शाम की फ्लाइट से पटना रवाना हो सकते हैं ।

12 मई को है बड़े बेटे की शादी

– लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की शादी 12 मई को पटना में होनी है। इस शादी में शामिल होने के लिए लालू ने कोर्ट से पेरोल मांगी थी।

– इससे पहले 18 अप्रैल को तेज प्रताप की सगाई में लालू शामिल नहीं हो पाए थे। उस दौरान लालू का दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा था।

पांच डॉक्टरों की टीम कर रही जांच
– लालू यादव एम्स से वापस आने के बाद 1 मई से रिम्स (राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज) में भर्ती हैं। पांच डॉक्टरों की टीम रिम्स में लालू प्रसाद का इलाज कर रही है।

– लालू का स्वास्थ्य फिलहाल सामान्य है। उनकी पैथोलॉजिकल जांच रिपोर्ट नॉर्मल हो रही है। मंगलवार को रिम्स प्रबंधन की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन में उनका शुगर लेवल कम पाया गया। रिम्स निदेशक आरके श्रीवास्तव ने बताया कि रिपोर्ट में उनका ब्लड प्रेशर 130 /68, खाली पेट शुगर 154, हीमोग्लोबिन 11.5, डब्ल्यूबीसी 11600 है। उन्हें नई कोई शिकायत नहीं मिली है।

30 अप्रैल को एम्स से वापस भेजा गया था रिम्स
बताते चलें कि लालू यादव चारा घोटाले के दो मामले में सजा भुगत रहे हैं। उन्हें 30 अप्रैल को एम्स से छुट्‌टी देकर वापस रांची के रिम्स भेज दिया गया था। इससे पहले लालू ने एम्स में कांग्रेस अध्यक्ष  से मुलाकात की थी। इसके करीब दो घंटे बाद उन्हें डिस्चार्ज करने की खबर आई। एम्स में भर्ती रखने की तमाम मिन्नतों के बावजूद राहुल से मुलाकात के चार घंटे के अंदर लालू एम्स से बाहर थे।

11 मई को प्रोविजनल बेल पर होगी सुनवाई
– लालू ने कोर्ट से प्रोविजनल बेल देने की भी अपील की है। 11 मई को इस पर सुनवाई होने वाली है। वहीं, चारा घोटाला केस में सजा पाए जगन्नाथ मिश्रा को प्रोविजनल बेल मिल चुकी है। वह अपना इलाज करा रहे हैं।

– लालू ने मुंबई में जांच कराने के लिए तीन महीने की प्रोविजनल बेल मांगी है। जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई के बाद एम्स से रिपोर्ट मांगी है।

– लालू प्रसाद की ओर से कोर्ट को बताया गया कि उनकी तबीयत ठीक नहीं रह रही है। वह मुंबई के एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट में जांच कराना चाहते हैं। इसलिए 3 महीने की प्रोविजनल बेल दी जाए।

23 दिसम्बर 2017 से रांची में हैं लालू
– चारा घोटाला के देवघर ट्रेजरी केस में 23 दिसम्बर, 2017 को दोषी करार दिए जाने के बाद से लालू यादव रांची जेल में थे। इस केस में 6 जनवरी 2018 को लालू समेत 16 आरोपियों को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई गई। उन पर 10 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया।
– तबीयत बिगड़ने पर लालू यादव को 17 मार्च को रिम्स में भर्ती किया गया। सुधार नहीं होने पर 28 मार्च को एम्स रेफर कर दिया गया था। एम्स से उन्हें पुन: 30 अप्रैल को डिस्चार्ज कर रिम्स भेज दिया गया।

चारा घोटाले के 6 मामलों में से 4 में हुई लालू को सजा
-चाईबासा ट्रेजरी का पहला केस:
30 सितंबर 2013 को कोर्ट ने लालू यादव को दोषी माना। पांच साल जेल की सजा हुई। 25 लाख रुपए का जुर्माना भी उन पर लगाया गया था। इस मामले में लालू को जमानत मिल चुकी है।
– देवघर ट्रेजरी केस: 23 दिसम्बर 2017 को दोषी करार। 6 जनवरी 2018 को लालू समेत 16 आरोपियों को साढ़े तीन साल जेल की सजा सुनाई गई। लालू पर 10 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया।
– चाईबासा ट्रेजरी का दूसरा केस:24 जनवरी 2018 को लालू दोषी करार। इसी दिन उन्हें पांच साल की सजा सुनाई गई। दस लाख रुपए जुर्माना।
– दुमका ट्रेजरी केस:मार्च 2018 में लालू यादव को दोषी माना गया। पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र बरी हुए। 24 मार्च को लालू को 7-7 साल की सजा सुनाई गई। दोनों सजाएं अलग-अलग चलेंगी। यानी कुल 14 साल। लालू पर 60 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया। इन तीनों मामलों में लालू सजा काट रहे हैं।

इन 2 केस में चल रही सुनवाई
डोरंडा ट्रेजरी केस:इस केस की सुनवाई भी रांची में चल रही है।
-भागलपुर ट्रेजरी केस:इसकी सुनवाई पटना की सीबीआई कोर्ट में चल रही है।

Leave a Comment