उत्तरप्रदेश

गन्ना किसानों के निकले अवैध सट्टे का होगा सर्वेक्षण, होगी कार्यवाही

गन्ना किसानों के निकले अवैध सट्टे का होगा सर्वेक्षण, होगी कार्यवाही

— इस बार पर्ची तभी मिलेगी जब उनका होगा सत्यापन : जिलाधिकारी
शाहजहाँपुर। जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने बताया कि जितने अवैध सट्टे गन्ना किसानों के निकले थे, उन किसानों का सर्वेक्षण सम्बन्धित उपजिलाधिकारी एवं जिला गन्ना अधिकारी द्वारा किया जायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि गन्ना किसानों का मौके पर सट्टा अवैध पाये जाने पर सम्बन्धित सट्टा धारक के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी ने बताया कि इस बार शासन के निर्देशानुसार गन्ना किसानों का घोषणा पत्र की प्राप्ति अनिवार्य कर दी गयी है। उन्होंने कहा कि सर्वेक्षण प्रारम्भ करने से पूर्व सर्वेक्षण टीम द्वारा सभी किसानों से उनके द्वारा बोये गये गन्ना क्षेत्रफल के सम्बन्ध में परिष्टि-1 में निर्धारित प्रारूप पर घोषणा पत्र प्राप्त किये जायेंगे। प्राप्त घोषणा पत्रों का शत-प्रतिशत सत्यापन सर्वेक्षण के समय किया जायेगा। उन्होंने कहा कि यदि किसी किसान द्वारा अपरिहार्य कारणवश घोषणा पत्र नहीं उपलब्ध कराया जा सका तो सर्वेक्षण के समय घोषणा पत्र सम्बन्धित किसानों से अवष्य प्राप्त कर लिया जाये, तथा मौके पर ही इसका सत्यापन किया जायेगा। जिलाधिकारी ने बताया कि यह भी स्पष्ट कि जो किसान घोषणा पत्र उपलब्ध नहीं करायेंगे तो आगामी पेराई सत्र 2018-19 में उनका सट्टा संचालित नहीं किया जायेगा। उन्होंने बताया कि घोषणा पत्र के साथ ही यथासम्भव गन्ना कृषक के आधारकार्ड तथा अपरिहार्य स्थिति में मतदाता पहचान पत्र/ड्राॅइविंग लाइसेन्स/बैंक पासबुक की प्राप्ति समिति कार्यालय में अनुरक्षित की जाये। उन्होंने यह भी कहा कि इस बार पर्ची तभी मिलेगी जब उनका सत्यापन होगा।

Leave a Comment