उत्तरप्रदेश

लखनऊ के इस विश्वविद्यालय के वीसी ये काण्ड करके फंसे, होगी अब कार्रवाई

विश्वविद्यालय

लखनऊ। बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आरसी सोबती का वेतन को लेकर एक मामला सामने आया है। कुलपति प्रो. आरसी सोबती विश्वविद्यालय के पूरे वेतन के साथ पंजाब यूनिवर्सिटी से जारी हो रही पेंशन का भी लाभ ले रहे हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उपसचिव सूरत सिंह ने विश्वविद्यालय को पत्र लिखकर इस बात की जानकारी दी।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उपसचिव सूरत सिंह ने विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार को 4 जून को पत्र लिखा जिसमें उन्होने कहा कि, प्रो. सोबती विश्वविद्यालय के पूरे वेतन के साथ पंजाब यूनिवर्सिटी से जारी हो रही पेंशन भी उठा रहे हैं जो कि गलत हैं वह इसके लिए पात्र नहीं हैं। लिहाजा उनकी नियुक्ति से वेतन का पुनर्निर्धारण कर रिकवरी की जाए। हालांकि इस पर कुलपति प्रो. सोबती का कहना है कि उन्होंने मंत्रालय के निर्देशानुसार ही भुगतान लिया है।

उपसचिव ने पत्र में कहा है कि कुलपति प्रो. सोबती के पूरा वेतन व पेंशन लेने के मामले में कई शिकायतें मिलीं। इसका डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक ग्रीवांस एंड ट्रेनिंग के साथ मिलकर पुनर्परीक्षण किया गया। डीओपीटी ने साफ किया है कि ऐसे पेंशनर जिन्हें 55 वर्ष या सेवानिवृत्ति के बाद पुनर्नियुक्ति दी गई है, उन्हें पेंशन की रकम काटकर वेतन दिया जाएगा।यूजीसी ने भी प्रो. सोबती को कोई विशेष छूट नहीं दी है। ऐसा बीबीएयू के नियमों में भी नहीं है। लिहाजा उन्हें दिया जाने वाला वेतन, भत्ता व एचआरए केंद्र की ओर से तय किया जाएगा।

Article लखनऊ के इस विश्वविद्यालय के वीसी ये काण्ड करके फंसे, होगी अब कार्रवाई took from Puri Dunia | पूरी दुनिया.

Leave a Comment