नौकरी

सरकार बच्चों को नि:शुल्क पाठ्य पुस्तकें, यूनीफार्म, उपलब्ध करायेंगी ‘स्कूल चलो अभियान’

सरकार बच्चों को नि:शुल्क पाठ्य पुस्तकें, यूनीफार्म, उपलब्ध करायेंगी ‘स्कूल चलो अभियान’

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘स्कूल चलो अभियान’को सफल बनाने के लिए प्रदेश के सांसदों, विधायकों, जिला पंचायत अध्यक्षों, महापौर, अध्यक्ष नगर पालिका परिषद,नगर पंचायत, ब्लॉक प्रमुखों तथा ग्राम प्रधानों को पत्र लिख कर सहयोग प्रदान करने का अनुरोध किया। उत्तर प्रदेश सरकार द्बारा घर-घर जाकर अभिभावकों को जागरूक कर शत-प्रतिशत बालक-बालिकाओं का नामांकन कराने और उन्हें नियमित रूप से विद्यालय भेजने के उद्देश्य से ‘स्कूल चलो अभियान’ संचालित किया जाएगा।

योगी ने कहा कि शैक्षिक सत्र 2018-19 में 6 से 14 वर्ष के शत-प्रतिशत बच्चों का विद्यालयों में नामांकन करना हमारा लक्ष्य है। इन्हें एक पत्र लिखा है। सरकार द्बारा दो से 3० अप्रैल तक राज्य में’स्कूल चलो अभियान’संचालित किया जाएगा। प्रदेश में अभी भी काफी बच्चों का विद्यालय में नामांकन न होने के कारण उन्हें नि:शुल्क शिक्षा-व्यवस्था का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

यह भी राज्य सरकार के संज्ञान में है कि अभी भी काफी बच्चे आउट ऑफ स्कूल हैं, जो प्रदेश के विकास में बाधक हैं। ऐसे बच्चों का चिन्हांकन कर उन्हें विद्यालयों में प्रवेश दिलाकर शिक्षा की मुख्य धारा में जोड़े जाने की आवश्यकता है। भारत के संविधान में 6 से 14 वर्ष तक के बच्चों के लिए नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा के मौलिक अधिकार की व्यवस्था है। हम सबका दायित्व है कि इस आयु वर्ग के प्रत्येक बच्चे को विद्यालय में प्रवेश दिलाकर उसे नि:शुल्क प्रारम्भिक शिक्षा सुलभ करायी जाए।

शिक्षा से बच्चों के बौद्धिक विकास के साथ ही उनका श्रेष्ठ नागरिक बनने का मार्ग प्रशस्त होता है। प्रारम्भिक शिक्षा की सुव्यवस्था सरकार की प्राथमिकता है। बच्चों को नि:शुल्क पाठ्य पुस्तकें, यूनीफार्म, स्वेटर, जूता-मोजा तथा नियमित गुणवत्तायुक्त दोपहर का भोजन उपलब्ध कराने एवं उनके पठन-पाठन की समुचित व्यवस्था करने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है।

Leave a Comment