लाइफस्टाइल

अगर आप भी चाहते है जुड़वा बच्चे, तो गर्भधारण से पहले ध्यान रखें ये बाते

अगर आप भी चाहते है जुड़वा बच्चे, तो गर्भधारण से पहले ध्यान रखें ये बाते

वैसे तो जुड़वाँ बच्चा होना प्रकृति की देन है लेकिनअगर आप दूसरे बच्चे की चाहत रखती हैं तो उसके लिए आपको दो बार प्रसव के दर्द और परेशानियों से गुजरना होगा। हालांकि जुड़वा बच्चे होने से आपको दोगुनी खुशी मिलती है और आपको दोबारा प्रसव पीड़ा भी नहीं झेलनी पड़ेगी। क्या आप जानती हैं कि ऐसे कुछ उपाय हैं जिनकी मदद से आप जुड़वा बच्चों की मां बन सकती हैं। यह सुनने में काफी नामुमकिन लगता है लेकिन ऐसा हो सकता है। आइए जानते हैं बिना किसी उपचार और ट्रीटमेंट के कुछ तरीकों से आप जुड़वा बच्चों को कैसे कंसीव कर सकते हैं। नीचे दिए गए उपायों से जानें।

# एक रिसर्च के मुताबिक, डेयरी उत्पादों का सेवन करने से एकाधिक गर्भधारण की संभावनाएं अधिक होती हैं। जो महिलाएं ज्यादा डेयरी उत्पाद खाती हैं उनमें जुड़वा बच्चों के गर्भधारण की संभावना पांच गुना अधिक होती हैं। बल्कि वो महिलाएं जो इन उत्पादों का सेवन नहीं करती हैं उनमें जुड़वा बच्चें होने की संभावनाएं कम होती हैं। कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि सिर्फ डेयरी उत्पाद ही नहीं बल्कि दूध में मौजूद ग्रोथ हार्मोन भी जुड़वां बच्चों के होने में मदद कर सकते हैं।

# येम शकरगंद जैसा दिखने वाला एक फल होता है। येम खाने से अंडाशय में उत्तेजना होता है जिससे ओव्यूलेशन के लिए एक से अधिक अंडा रिलीज होता है। इस कारण से आपकी जुड़वा बच्चे कंसीव करने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। इसके अलावा प्रोटीन की मात्रा से भरपूर आहार जैसे अनाज और सोया भी इसके के लिए फायदेमंद होते हैं।

# जन्म नियंत्रण की गोलियां जुड़वा बच्चों के गर्भधारण में मदद करती हैं। जब आप गर्भनिरोधक दवा लेना बंद कर देते हैं, तो आपके शरीर को नेचुरल रिदम में आने में समय लगता है। इस कारण आपका शरीर सामान्य से अधिक हार्मोन फ्लक्स करता है। यदि आप इस समय के आसपास गर्भधारण करती हैं तो जुड़वा बच्चों के होने की अधिक संभावनाएं होती है।

# आपके मां बनने और जु़ड़वा गर्भधारण की संभावनाएं उम्र बढ़ने के साथ बढ़ती है। जो महिलाएं 35 साल की उम्र या उससे ऊपर हैं वो फॉलिकल स्टीमुलेटिंग हार्मोन (एफएसएच) का अधिक उत्पादन करती हैं। यह हार्मोन ओवरीज को ओव्यूलेशन के लिए अंडा रिलीज करने के तैयार करता है। हार्मोन का स्तर जितना अधिक होगा, ओव्यूलेशन के दौरान अंडे उतने ही अधिक रिलीज होंगे। इससे एक से अधिक गर्भ की संभावना होंगी। अगर आप जुड़वा बच्चे कंसीव करना चाहती हैं तो उम्र के इस पड़ाव में गर्भधारण की कोशिश करें।

# जुड़वा बच्चों के लिए अगर आप गर्भधारण की कोशिश कर रही हैं तो अपनी पहली गर्भावस्था के बाद थोड़ा समय लें। जल्दी-जल्दी किए गए गर्भधारण के कारण जुड़वा बच्चे होने की संभावनाएं घट जाती हैं।

# अगर आपका साथी जिंक युक्त आहार लेता है तो उससे स्पर्म के उत्पादन में वृद्धि होती है। स्पर्म काउंट में वृद्धि होने से आपका साथी एक से अधिक अंडे को फर्टाइल कर पाएगा। इससे आप एक से अधिक गर्भधारण कर पाएंगी। जिंक युक्त आहार में पत्तेदार सब्जियां, ब्रेड और हर सब्जियों का सेवन कर सकते हैं।

Leave a Comment