लाइफस्टाइल

मुश्किल नहीं है फिट रहना

मुश्किल नहीं है फिट रहना

मोटापा अपने आप में कोई बीमारी नहीं है, लेकिन कई बीमारियों की जड़ जरूर है, ये बात और है कि लोग मोटापे से इसलिए बचना चाहते हैं, ताकि फैशनेबल कपड़े पहने जा सके और अपनी तस्वीरें सोशल साइट्स पर अपलोड की जा सके। खैर वजह जो भी हो, अगर कोई स्लिम होना चाहता है, तो यह अच्छी बात है, क्योंकि बस ऐसा करके ही आप कई बीमारियों से दूर हो जाते हैं। अपना फिटनेस प्लान बना लेने से पहले आपको यह जान और समझ लेना चाहिए कि आप मोटे क्यों हैं?

मोटापा की दो खास वजह
कई बार बीमारियों की वजह से भी मोटापे की समस्या हो जाती है, लेकिन सामान्यता दो वजह होती है मोटापे की। एक तो खाना और दूसरा आलस। अगर आप बेहिसाब खाते रहेंगे और खास तौर पर जंक फूड खाएंगे, तो मोटे हो जाएंगे। दूसरे इन दिनों सबसे पास व्हीकल है, पैदल चलना बहुत कम हो गया है। सारा काम मशीनों से होने लगा है, ऐसे में बॉडी जरा भी एक्टिव नहीं रहती। जिम जाने के लिए वक्त नहीं है, ऐसे में मोटापा तो बढ़ेगा ही।

वॉक और जिम का सहारा लें
कार्यशैली बदलना अब संभव नहीं, इसलिए स्लिम होने के लिए सबसे पहले मॉर्निंग वॉक शुरू करें और अपने घर के आस-पास कोई ठीक-ठाक सा जिम देखकर जॉइन कर लें। ज्यादा दूर जिम देखेंगे, तो रेग्युलर बने रहना मुश्किल हो जाएगा। अगर पर्सनल ट्रेनर की हेल्प ले सकते हैं, ताकि प्रॉपर एक्सरसाइज कर सकें। वेट ट्रेनिंग, स्ट्रेचनिंग आदि करें। साथ ही, जुंबा डांस भी आपकी मदद करेगा।

फोन पर लगाएं पाबंदी
स्मार्टफोन पर जरूरत से ज्यादा निर्भर होते जा रहे हैं सभी। कम से कम बिस्तर पर जाने के बाद तो फोन को छोड़ देना चाहिए। कई सर्वे यह बात साबित कर चुके हैं कि पर्याप्त नींद ना लेने से कई तरह की बीमारियां हो सकती हंै, अवसाद हो सकता है और मोटापा भी बढ़ सकता है। रात को नींद पूरी न होने से दिनभर आलस्य बना रहेगा और आप फिजिकली एक्टिव नहीं हो सकेंगे, ऐसे में नींद पूरी कीजिए और मोबाइल से दूर रहिए। खाते वक्त टीवी और सोते समय मोबाइल दूर ही रहे तो अच्छा है।

खेलने और खाने का टाइम
आपको अपने खाने का टाइम फिक्स करना ही होगा, इससे आपको जल्द नतीजे मिल जाएंगे। चार से छह बार खाना खा सकते हैं, लेकिन थोड़ा-थोड़ा। सुबह हैवी ब्रेकफास्ट कर सकते हैं, लेकिन डिनर हल्का हो, रात को सोने से दो घंटे पहले ले लेंगे तो अच्छा रहेगा। इसी के साथ किसी भी आउटडोर गेम को अपनी हॉबी बनाएं। रोजाना मुनासिब नहीं तो सप्ताह में दो बार ही सही। और कुछ नहीं तो साइकल चलाने का पुराना शौक तो पूरा किया ही जा सकता है। इससे आपकी बॉडी के सभी पाट्र्स को मूवमेंट मिलेगा और बॉडी फिट और एक्टिव बनेगी।

प्रोटीन डाइट लें
अपना डाइट चार्ट प्लान करें। इसमें जंक फूड एकदम डिलीट करें और प्रोटीन युक्त आहार शामिल करते जाएं। भारतीय अक्सर प्रोटीन की कमी से जूझते हैं। अगर आप प्रोटीनयुक्त आहार लेंगे, तो शरीर में एनर्जी तो रहेगी ही, साथ ही पेट भरा हुआ लगेगा। वर्कआउट करने में जितनी एनर्जी लगती है, वो प्रोटीन युक्त आहार से मिल जाएगी।

Leave a Comment