लाइफस्टाइल

एक अजनबी दीवाने से यूं मुलाकात….

एक अजनबी दीवाने से यूं मुलाकात….

नई दिल्ली। आजकल का दौर जिसमें समझ नहीं आता किससे दोस्ती करें और किस्से नहीं। ऐसे में लोग एकदूसरे से बात करने में बहुत हिचकिचाते भी हैं। कभी आपको कोई पसंद भी आए तो आप उससे हाथ मिलाने या बात करने में पीछे हटते हैं। तब आपके दिमाग में अक्सर कुछ सवाल दस्तक देने लगते हैं, और आप उससे इग्नोर करके चले जाते हैं। लेकिन बता दें दुनिया में बुरे लोगों के मुकाबले अच्छे लोग भी शामिल हैं।

इसीलिए जिस रास्ते पर जो मिले उसे समझ कर दोस्त बनाकर चलने में ही भलाई है। इससे दो चीज़े हो सकती हैं एक तो आपको एक नया दोस्त मिल जाएगा और दूसरा आपको ये समझ भी आ जाएगा कि आपको इंसान परखने की कितनी समझ हैं।

किसी भी बातचीत की शुरूआत एक हैलो हाय के साथ शुरू होती है। हैलो एक ऐसा शब्द बन चुका है जो संसार में ना जानें कितने नए रिश्तों की शुरूआत का जनक बन चुका है।

एक कॉफी हाउस में बैठकर बगल वाली लड़की से आप अगर बात करना चाहते हैं तो बजाय कि यहां-वहां की बात पूछने से उससे कॉफी के बारें में पूछिए। अगर मंदिर में हैं तो उससे पूछ लीजिएं कि क्या आपका भगवान में विश्वास है या अगर भगवान में विश्वास नहीं है तो वह यहां क्यों आई है।

इंसान एक सामाजिक प्राणी है बचपन में जरूर पढ़ा होगा। भूले तो नहीं ना। तो फिर इसी टिप को इस्तेमाल करें। किसी बस स्टैंड पर बैठकर कर आप किसी अनजान लड़की से बस सर्विस की बुराई या रोड पर चलते ट्रैफिक वालों की सेंस की ऐसी तेसी कर सकते हैं, हो सकता है वह इंटरस्ट ले ले।

अगर लड़की आपकी बातों में जरा भी इंटरस्ट दिखाती है तो आपका काम बन गया है। इसके बाद आपको थोड़ी तारीफ भी करनी चाहिए। देखिए तारीफ का टॉनिक जब तक किसी लड़की को नहीं मिलता है तब तक उसके दिमाग में एट्रेक्श्न का बल्ब नहीं जलता। तो अपने दिमाग की बत्ती जलाओ, लडकी की तारीफ करो और उससे दोस्ती बनाओ।

Article एक अजनबी दीवाने से यूं मुलाकात…. took from Puri Dunia | पूरी दुनिया.

Leave a Comment