मध्यप्रदेश

मप्र में 60 लाख फर्जी मतदाता,चुनाव आयोग से शिकायत

मप्र में 60 लाख फर्जी मतदाता,चुनाव आयोग से शिकायत

भोपाल। मध्यप्रदेश में विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने फर्जी मतदाता का मुद्दा उठाया है। हाल के चुनावों में ईवीएम और वीवीपैट का मुद्दा उठाने वाली कांग्रेस ने अब फर्जी वोटरों का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने मध्यप्रदेश की वोटर लिस्ट में गड़बडिय़ों का आरोप लगाते हुए 60 लाख फर्जी वोटर होने का दावा किया है।
कांग्रेस ने इस संबंध में चुनाव आयोग से शिकायत भी की है। पार्टी ने बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये दावा किया है और सबूत पेश किए हैं।
100 विधानसभा क्षेत्रों में की गई छानबीन 
मध्यप्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और लोकसभा सांसद कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान कमलनाथ ने बताया कि हमने 100 विधानसभा क्षेत्रों में छानबीन कराई है, जहां 60 लाख फर्जी वोटर की सूची का पता चला है।
आबादी 24 प्रतिशत बढ़ी लेकिन मतदाता की संख्या में 40 फीसदी इजाफा कैसे?
कमलनाथ ने दावा किया कि मध्यप्रदेश की आबादी 24 प्रतिशत बढ़ी है, लेकिन मतदाताओं की संख्या में 40 प्रतिशत इजाफा हुआ है। उन्होंने इस आंकड़े को हैरान करने वाला बताया है। साथ ही जान-बूझकर फर्जी वोटर लिस्ट बनाए जाने का आरोप लगाया है। कमलनाथ ने ये भी आरोप लगाया कि यूपी से जुड़े क्षेत्रों में कई ऐसे लोग हैं, जिनके नाम दोनों राज्यों की वोटर लिस्ट में है। इसके अलावा कई लोगों ने नाम कई अन्य सूचियों में है। कमलनाथ ने कहा कि हमने नई वोटर लिस्ट बनाने की मांग की है।
पड़ोसी राज्यों में हो मतदाता सूची की जांच 
कमलनाथ ने ये भी कहा कि पड़ोस के राज्यों में भी वोटर लिस्ट की जांच होनी चाहिए। कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी ने इस संबंध में कोई शिकायत नहीं की है, क्योंकि उन्होंने ही ये कराया है। वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि उन्होंने 60 लाख फर्जी मतदाता होने के सबूत के साथ चुनाव आयोग से शिकायत की है।
चुनाव आयोग ने कांग्रेस को लिस्ट में सुधार का भरोसा दिया है।

Leave a Comment