मध्यप्रदेश

13 जून को विकासखण्ड मुख्यालयों पर संबल योजना के हित-लाभ वितरण

13 जून को विकासखण्ड मुख्यालयों पर संबल योजना के हित-लाभ वितरण

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मुख्यमंत्री जन-ल्याण योजना (संबल) ऐसी योजना है जो गरीबों के जीवन में खुशहाली लाकर उनका जीवन बदल देगी। यह योजना गरीबों के जीवन मे नया सबेरा लेकर आयेगी और अमीरी तथा गरीबी की खाई को पाटने का कार्य करेगी। आगामी 13 जून को प्रदेश के जनपद मुख्यालयों पर योजना के हितग्राहियों को हितलाभ बाँटे जायेंगे। इसके बाद ग्राम पंचायत और नगरीय निकाय स्तर पर हितग्राहियों को लाभान्वित करने का सिलसिला जारी रहेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान सतना में कटनी और सतना जिले के योजना के हितग्राहियों तथा तेंदूपत्ता संग्राहकों के सम्मेलन और हितलाभ वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सतना जिले के लगभग 76 करोड़ की लागत के विकास कार्यो का लोकार्पण एवं 61 करोड़ लागत के निर्माण कार्यो का शिलान्यास भी किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जन-कल्याण योजना ने सरकार को गरीबों के साथ खड़ा किया है। एक अप्रैल से 30 मई तक जिन हितग्राहियों के यहाँ 2 बच्चों तक बेटा-बेटी का जन्म हुआ है, उन्हें 4 हजार और 12 हजार रूपये की सहायता के चेक दिये जायेंगे। यदि किसी हितग्राही के परिवार में सामान्य मृत्यु हुई है, तो 2 लाख और दुर्घटना में मृत्यु होने पर 4 लाख की सहायता दी जायेगी। इसी प्रकार अंत्येष्टि योजना में 5 हजार रूपये की सहायता नगद दी जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना की देखभाल और निगरानी के लिये ग्राम पंचायत और नगरीय निकाय स्तर पर जनता के ही 5 लोगों की समिति बनाई जायेगी। स्व-सहायता समूहों का बैंको से लिंकेज कर रोजगार के साधन बढाने के प्रयास किये जायेंगें। कटनी जिले के कैमोर मे आज ही सम्पन्न रोजगार मेले की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि रोजगार मेले सभी जिलों में लगाये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के किसानो को सिंचाई की सुविधा और भरपूर बिजली उपलब्ध कराने के फलस्वरूप सूखे की स्थिति में भी भरपूर उत्पादन हुआ है। जुलाई 2018 से गरीबों के लिये 200 रूपये प्रतिमाह के दर से विद्युत देयक लिये जाने की भी ब्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना 15 अगस्त से लागू होगी, जिसमें प्रत्येक गरीब का मुफ्त इलाज सुनिश्चित किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हर आवासहीन गरीब को जमीन का पट्टा देकर उसे जमीन का मालिक बनाया जायेगा। चार साल में प्रदेश के साढ़े 37 लाख गरीबों के कच्चे और टूट-फूटे मकानों को पक्के मकानों में बदल दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सतना जिले और कटनी जिले में मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना में रिकार्ड संख्या में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का पंजीयन किये जाने पर कलेक्टर सतना और कटनी की सराहना भी की। श्री चौहान ने प्रतीक स्वरूप सतना और कटनी जिले के 5-5 हितग्राहियों को असंगठित क्षेत्रों के श्रमिकों का पंजीयन कार्ड, आवासीय पट्टा, वनाधिकार-पत्र और मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना के तहत सहायता राशि तथा उज्जवला योजना के निःशुल्क गैस कनेक्शन भी वितरित किये।

सांसद श्री गणेश सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हर वर्ग के कल्याण के लिये अप्रतिम योजनाए तैयार कर क्रियान्वित की हैं। विधायक सतना शंकरलाल तिवारी ने भी संबोधित किया।

तेंदूपत्ता संग्राहकों को सवा 8 करोड़ के बोनस वितरण की शुरूआत
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सतना जिले की 42 प्राथमिक वनोपज समितियों के 31 हजार 841 कार्डधारी परिवारों को वर्ष 2016 का तेन्दूपत्ता बोनस राशि 8.21 करोड रूपये का खातों में वितरण किये जाने की शुरूआत की। चरण पादुका योजना में 36 हजार 893 पुरूष तेन्दूपत्ता संग्राहकों को एक-एक जोड़ी जूता और 37 हजारमहिला संग्राहकों को एक-एक जोड़ी चप्पल और साड़ी का वितरण और सभी संग्राहकों को 73 हजार 917 पानी की बॉटल के वितरण कार्य का भी शुभारंभ किया।

इस अवसर पर खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री एवं सतना जिले के प्रभारी मंत्री श्री ओम प्रकाश धुर्वे, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम राज्य मंत्री श्री संजय-सत्येन्द्र पाठक, सांसद सतना श्री गणेश सिंह, महापौर श्रीमती ममता पाण्डेय, जिला पंचायत अध्यक्ष सतना श्रीमती सुधा सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष कटनी श्रीमती ममता रंगलाल पटेल, अध्यक्ष कल्याण बोर्ड श्रीमती पदमा शुक्ला, विधायक सर्वश्री शंकरलाल तिवारी, मैहर नारायण त्रिपाठी और संदीप जायसवाल, विन्ध्य विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री सुभाष सिंह, पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य श्री दयांनद कुशवाहा, राज्य महिला आयोग की सदस्य अंजू सिंह तथा जिला पंचायत उपाध्यक्ष डॉ. रश्मि सिंह एवं अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Comment