मध्यप्रदेश

भावान्तर की राशि जिनके खातों में नहीं आई है उन किसानों से सम्पर्क करे -कलेक्टर श्रीमती चौहान

भावान्तर की राशि जिनके खातों में नहीं आई है उन किसानों से सम्पर्क करे -कलेक्टर श्रीमती चौहान

विगत दिनों मंदसौर जिले में आयेजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा रतलाम जिले के किसानों के खातों में भी भावान्तर भुगतान योजना के करोड़ो रुपये की लाभ राशि जमा की गई है। किसी त्रुटि अथवा तकनीकी कारणों से यदि किसान विशेष के खातें में राशि जमा नहीं हुई है तो किसान से सम्पर्क करके जानकारी दुरूस्त करते हुए तत्काल उसके खातें में राशि जमा करवाई जाए। यह निर्देश कलेक्टर श्रीमती रूचिका चौहान ने आज समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में उपसंचालक उद्यानिकी को दिए। सीईओ जिला पंचायत श्री सोमेश मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री जितेन्द्र सिंह चौहान, उपजिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण फुलपगारे व अन्य अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने बैठक में जिला खाद्य अधिकारी को निर्देश दिए कि उज्ज्वला योजना के तहत महिलाओ को निःशुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए पंजीयन कार्यवाही तेज की जाए। महिलाओ के फार्म भरवाकर गैस एजेंसियों तक पहुंचाये जाए। डाटा एंट्री कार्य में तेजी लाई जाए। कलेक्टर ने यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि उचित मूल्य दुकानों पर केरोसीन तथा अन्य राशन सामग्री उपलब्धता में कोई गड़बड़ी नहीं हो। आयुषमान भारत की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने सीएमएचओ को योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के उद्देश्य से जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थाओ में योजना के फ्लेक्स लगाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही रतलाम तथा जावरा के अस्पतालों में आयुषमान डेस्क 18 सितम्बर तक स्थापित करने के निर्देश दिए। डेस्क पर आयुषमान मित्र बैठेंगे जो आने वाले रोगी की पूरी जानकारी मेडिकल हिस्ट्री प्राप्त करेंगे। इस योजना में 5 लाख रुपये तक का उपचार लाभ गरीब वर्गां के रोगी को मिलेगा। एक अनुमान के मुताबिक जिले के लगभग 5 लाख व्यक्ति इस योजना के लाभ के दायरे में सम्मिलित हो सकेंगे। इसमें संबल योजना के हितग्राही सम्मिलित है। इन सभी व्यक्तियों की डाटा एंट्री आयुषमान योजना के सिस्टम में समाविष्ट करना है।

संबल योजना की समीक्षा में कलेक्टर ने पाया कि जिले में 53 व्यक्तियों के परिवारों को पंजीयन के मुताबिक अनुग्रह सहायता दिया जाना शेष है। जिले के 322 परिवारों को अन्त्येष्टि सहायता दी गई है, परन्तु अनुग्रह सहायता राशि 267 परिवारों को दी गई है। शेष परिवारों को अनुग्रह राशि तत्काल दिलवानें के निर्देश कलेक्टर ने दिए। हितग्राहियों के सत्यापन की समीक्षा में बताया गया कि जिले के नगरीय निकायों में 98 प्रतिशत पंजीयनधारकों का सत्यापन किया जा चुका है। नगर निगम रतलाम में 95 प्रतिशत पंजीयन हुआ है। समाधान एक दिन योजना की भी समीक्षा की गई। सैलाना लोकसेवा केन्द्र द्वारा इस योजना में शत-प्रतिशत आवेदनों को एक ही दिवस में निराकरण नहीं पाया गया जो कि योजना की मूल भावना के विपरीत है। कलेक्टर ने इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि आवेदन जिस दिन आता है उसी दिन उसका निराकरण होना चाहिए। कलेक्टर ने यह चेतावनी भी दी कि लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत पदाभिहित अधिकारी यदि अपने कर्तव्य स्थल पर नहीं मिला तो निलंबित कर दिया जाएगा। सीएम हेल्पलाईन में लंबित प्रकरणों की भी समीक्षा की गई। जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक, शिक्षा विभाग तथा परियोजना अधिकारी शहरी विकास को निर्देश दिए कि प्रकरणों को लेकर बैठे नहीं इनका निराकरण करवाए। भोपाल जाने की जरूरत हो तो भोपाल जाए।

बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए कि आगामी 25 सितम्बर तक सभी सैलेरी बिल जनरेट करवाया लिए जाए। सातवे वेतनमान का एरियर किसी भी कर्मचारी का लंबित नहीं रहे। विधानसभा निर्वाचन की तैयारियों को लेकर भी कलेक्टर ने समीक्षा की। निर्देशित किया कि सभी मतदान केन्द्रों पर आगामी 7 दिवस में आयोग के निर्देशानुसार न्यूनतम आवश्यकताओं की पूर्ति सुनिश्चित कर दी जाए। निगमायुक्त द्वारा रतलाम शहर में 147 मतदान केन्द्रों पर दो दरवाजें नही होने की जानकारी दी गई। कलेक्टर ने ऐसे शासकीय भवनों में खिड़की हटाकर दो दरवाजों की व्यवस्था करने के निर्देश निगमायुक्त को दिए। प्रायवेट भवनो के लिए एसडीएम शहर को कार्यवाही के लिए निर्देशित किया। ग्रामीण क्षेत्र में पेयजल विहीन मतदान केन्द्रों के लिए ईई पीएचई को तथा विद्युतविहीन केन्द्रों के लिए अधीक्षण यंत्री विद्युत वितरण को निर्देशित किया। सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि मतदान केन्द्र संबंधी जानकारी बूथ के सामने अंकित कर दी जाए। संपत्ति विरूपण के संबंध मे अधीक्षण यंत्री विद्युत वितरण कंपनी को निर्देशित किया कि कार्यवाही करते हुए सभी खंबों से पोस्टर, बेनर, पेम्पलेट्स हटाए जाए। इसी तरह की कार्यवाही के निर्देश स्वास्थ्य संस्थाओं तथा आंगनवाड़ी केन्द्रों के संबंध में भी दिए गए।

हीमोग्लोबिन टेस्ट किया गया
समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक के पश्चात महिला बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित पोषण माह के तहत अधिकारियों को हीमोग्लोबिन टेस्ट किया गया। कलेक्टर श्रीमती रूचिका चौहान तथा अन्य अधिकारियों ने भी अपना हीमोग्लोबिन टेस्ट करवाया।

Leave a Comment