मध्यप्रदेश

शिवराज के बेटे की दुकान बंद नहीं करा सके कांग्रेसी कार्यकर्ता

शिवराज के बेटे की दुकान बंद नहीं करा सके कांग्रेसी कार्यकर्ता

भारत बंद के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ता मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में दुकानों और पेट्रोल पम्प तो बन्द कराने में सफल रहे लेकिन भोपाल की एक दुकान ऐसी भी रही जहां कांग्रेस की एक ना चली और दुकान बंद नहीं हुई.

ये दुकान भोपाल के बिट्टन मार्केट में बनी एक छोटी सी फूलों की दुकान है. इस दुकान के साथ नाम जुड़ा है मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय चौहान का. दरअसल, कांग्रेस कार्यकर्ता सोमवार सुबह से ही भोपाल में घूम-घूम कर दुकानें बंद करवा रहे थे. हालांकि पहले कांग्रेस की तरफ से कहा गया था कि वो किसी के साथ ज़बरदस्ती नहीं करेंगे लेकिन बिट्टन मार्केट में पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शिवराज के बेटे की फ्लोरिका नाम की फूलों की दुकान को जबरन बन्द कराने की कोशिश की. हालांकि, ये बात अलग है कि कांग्रेस कार्यकर्ता इसमें सफल नहीं हो पाए और दुकान खुली रही.

मार्केट में पुलिस की मौजूदगी के कारण उन्हें यहां से जाना पड़ा. इस दौरान थोड़ी देर के लिए कार्यकर्ता दुकान के सामने नारेबाजी करते रहे. आपको बता दें कि बिट्टन मार्केट में बनी इस फूलों की दुकान में कई किस्मों के फूल और गुलदस्ते मिलते हैं.

मिला जुला रहा भोपाल बंद

देर शाम आईजी इंटेलिजेंस मकरंद देउस्कर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि मध्य प्रदेश में बंद का असर मिला जुला रहा और पूरे प्रदेश से हिंसा की कोई बड़ी खबर नहीं आई. पुलिस के मुताबिक उज्जैन, जबलपुर और कटनी में छोटी मोटी घटनाएं छोड़ प्रदेश में शांति रही और दोपहर बाद ज्यादातर दुकानें भी खुल गईं.

Leave a Comment