मध्यप्रदेश

दो लोग मुझे पीटते और ज्यादती करते रहे, दो कमरे के बाहर चौकीदारी कर रहे थे : पीड़िता

दो लोग मुझे पीटते और ज्यादती करते रहे, दो कमरे के बाहर चौकीदारी कर रहे थे : पीड़िता

भोपाल.मध्य प्रदेश की राजधानी में बैंक परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्रा को किडनैप कर गैंगरेप की वारदात हुई। इस मामले में पुलिस ने उसके पूर्व प्रेमी समेत 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। लड़की ने शिकायत में बताया कि वह कोचिंग के बाद शनिवार को एक्स ब्वॉयफ्रेंड से मिलने एमपी नगर इलाके में खड़ी थी। इसके बाद आरोपी झांसा देकर उसे दोस्त के घर ले गया। जहां बंधक बनाकर दो लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी। 6 महीने पहले में भी रेलवे स्टेशन के पास सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करने वाली लड़की के साथ 5 लोगों ने दरिंगदी की थी।

घटना से पहले दी थी धमकी : मुझसे दूर रहना है तो मेरे दोस्त से मिलना पड़ेगा
मुख्य आरोपी शैलेंद्र भी उसी कॉलेज से एमबीए पास है, जहां से छात्रा ने बीएससी की पढ़ाई की है। वह आरोपी की जूनियर थी। पढ़ाई के दौरान भी आरोपी उसे परेशान किया करता था। वह किसी से बात करती थी तो वह विरोध जताता था। शनिवार सुबह भी उसने कोचिंग के बाहर छात्रा को अपने दोस्त से बात करते हुए देख लिया। इसके बाद वह छात्रा के पास पहुंचा और मोबाइल फोन छीन लिया। कहने लगा कि मोबाइल फोन तभी लौटाऊंगा, जब तुम मेरे साथ चलोगी। इसके लिए तुम्हें मेरे दोस्त से भी मिलना पड़ेगा।

बाउंसर हैं छात्रा से दरिंदगी के 2 आरोपी

– एसपी साउथ, राहुल लोधा के मुताबिक, पीड़ित लड़की रविवार सुबह थाने आई और वारदात को लेकर शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने उसकी मेडिकल जांच कराने के बाद केस दर्ज कर लिया। इसके बाद चारों आरोपियों को उनके घर से गिरफ्तार किया।

– इनमें पूर्व प्रेमी शैलेंद्र दांगी, उसके दोस्त सोनू दांगी, चिमन राजपूत और धीरज राजपूत को शामिल हैं। दो आरोपी बाउंसर हैं, जो मंडीदीप के टोल नाके पर काम करते हैं।

छात्रा की आपबीती- उसने मेरा मोबाइल छीन लिया था

– लड़की ने पुलिस से कहा, ”मैं शैलेंद्र को करीब दो साल की जानती थी, उसने मुझे एक रेस्टोरेंट में मिलने के लिए बुलाया। मैं वहां इंतजार कर रही थी। शैलेंद्र आया और उसने बातों-बातों में मेरा मोबाइल छीन लिया। फिर उसने कहा कि मोबाइल चाहिए तो तुम्हें साथ चलना होगा। मजबूरी में उसके साथ बाइक पर बैठकर अप्सरा इलाके में गई। वहां शैलेंद्र के दोस्त सोनू के घर पर धीरज और चिमन भी मौजूद थे।
– ”यहां शैलेंद्र और धीरज ने मेरा गैंगरेप किया। इस दौरान चिमन कमरे में खड़ा होकर देखता रहा, जबकि सोनू घर के बाहर पहरा दे रहा था। इसके बाद उन्होंने कहा कि अगर किसी को यह बात बताई तो जान से मार देंगे।”

पुलिस ने निकाला जुलूस

– पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद एमपी नगर थाने से उनका जुलूस निकाला। इसके बाद सभी आरोपियों की उठक-बैठक लगवाई गई। बीच सड़क पर पहले पुलिस और बाद में लड़कियों ने उन्हें चप्पलों से पीटा। इस बीच काफी भीड़ जुटी रही। जुलूस एमपी नगर से बोर्ड ऑफिस चौराहे होते हुए थाने आ गया।

कांग्रेस ने शिवराज सिंह से इस्तीफा मांगा

– घटना को लेकर मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अरुण यादव ने ट्वीट कर महिला सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए।

– उन्होंने कहा, ”राजधानी में बच्चियां सुरक्षित नहीं हैं। कुछ महीने पहले हुई घटना को अभी भोपाल भूल भी नहीं पाया था कि अब फिर दरिंदगी सामने आई। महिलाओं को सुरक्षा नहीं दे पा रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए।”

6 महीने पहले हबीबगंज स्टेशन के पास गैंगरेप हुआ

– बता दें कि भोपाल में कोचिंग कर रही लड़कियों के साथ 6 महीने में गैंगरेप का यह दूसरी घटना है। 31 अक्टूबर की रात एमपी नगर से पीएससी कोचिंग के बाद घर लौट रही छात्रा के साथ हबीबगंज स्टेशन के पास 5 लोगों ने दरिंदगी की थी।
– यह वारदात रेलवे पुलिस थाने से महज 100 मीटर की दूरी पर हुई थी। लड़की विदिशा जाने के लिए ट्रेन पकड़ने रेलवे ट्रैक के किनारे स्टेशन की ओर जा रही थी। इसमें मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट ने सभी आरोपियों को ताउम्र जेल की सजा सुनाई थी।

मध्य प्रदेश में रोजाना 15 ज्यादती के मामले

– देश में रेप के मामलों में मध्य प्रदेश पहले नंबर पर है। पुलिस हेडक्वार्टर से मिले आंकड़ों के मुताबिक, 2017 में 5310 ज्यादती की घटनाएं प्रदेशभर के थानों में दर्ज हुईं। यानी हर दिन करीब 15 बेटियां ज्यादती की शिकार हुईं।
– 2016 के मुकाबले 2017 में यहां महिलाओं और नाबालिगों से ज्यादती की घटनाओं में 8.76 फीसदी का इजाफा हुआ है। 2015 के मुकाबले 2016 में ज्यादती के मामले 11.18 फीसदी बढ़ोतरी हुई। हालांकि 2017 में यह करीब ढाई फीसदी घट गई है।

 

Leave a Comment