धर्मं

आइए जानते हैं कार्तिक मास में किए जाने वाले कुछ उपायों के बारें में…

आइए जानते हैं कार्तिक मास में किए जाने वाले कुछ उपायों के बारें में…
हिंदू पंचांग के अनुसार सभी 12 माह में कार्तिक महीने का विशेष महत्व होता है। कार्तिक मास को सबसे पवित्र महीना माना जाता है। यह महीना शरद पूर्णिमा से लेकर कार्तिक पूर्णिमा तक चलता है। कार्तिक माह में दीपदान और गंगा स्नान का विशेष महत्व होता है। इस पावन महीने में पवित्र नदी में स्नान और दीपदान से सारे पाप नष्ट हो जाते हैं और हर तरह की मनोकामना पूरी हो जाती है। कार्तिक महीने में तुलसी पूजा करने पर विशेष लाभ मिलता है। अगर कई कोशिश करने के बाद भी किसी काम में सफलता प्राप्त नहीं होती है तो कार्तिक माह में तुलसी के पत्ते का कुछ उपाय करने से सारी परेशानियां दूर हो सकती है। आइए जानते हैं कार्तिक मास में किए जाने वाले कुछ उपायों के बारें में…

उपाय

– नौकरी और कारोबार में तरक्की पाने के लिए गुरुवार के दिन तुलसी के पौधे पर पीला रंग का कपड़ा बांधने से कारोबार बढ़ता है और नौकरी में प्रमोशन मिलता है।

– कार्तिक माह में घर में तुलसी का पौधा लगाएं साथ ही श्रीहरि नारायण का चित्र या प्रतिमा घर में रखें और उस तस्वीर में तुलसी के 11 पत्तों को बांध दें। ऐसा करने से घर में कभी भी पैसों की कमी कभी नहीं होती।

– धन लाभ के लिए सुबह उठकर तुलसी के कुल ग्यारह पत्ते तोड़ लें। फिर घर के उस बर्तन में डाल दें जहां आप आटा रखते हैं। इस आटे का प्रयोग करने से कुछ ही दिनों में आपको घर में बदलाव दिखाई देने लगेगा।

कार्तिक महीने का महत्व

– हिन्दू धर्म में तुलसी का पूजन और सेवन दोनो ही काम को महत्वपूर्ण माना गया है, लेकिन कार्तिक मास में तुलसी की पूजा करने से इसका लाभ कई गुना बढ़ जाता है।

– कार्तिक महीने में जमीन पर सोने को अच्छा माना गया है। भूमि पर सोने से मन में अच्छे विचार आते हैं और मन के दूषित विकार दूर भाग जाते हैं। जो भी व्यक्ति कार्तिक के पूरे महीने जमीन पर सोता है, उसके जीवन से विलासिता दूर होती है और सादगी आती है।

– कार्तिक के पूरे महीने गंगा नदी में स्नान करना शुभ माना जाता है।

– कार्तिक मास में उड़द, मूंग, मसूर, चना, मटर, राई आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।

Leave a Comment