धर्मं

28 अक्टूबर

कोलकाता, 28 अक्टूबर, 2017 ई. राष्ट्रीय तिथि 6 कार्तिक शके 1939, ​िहजरी 7 सफर 1439, बंगला 12 कार्तिक  1424, विक्रमीय संवत् 2074, कार्तिक शुक्ल पक्ष अष्टमी 8, शनिवार घं. 16/51, श्रवण नक्षत्र घं. 29/01, शूलयोग घं. 20/02, बवकरण, दिनमान घटी 27/56, सूर्योदय घं. 5/39, सूर्यास्त घं. 17/27, चन्द््रोदय घं. 12/23, चन्द्र मकर का। श्री दुर्गाष्टमी व्रत। गोपाष्टमी।

मेष – अवसर प्रदान करने वाला दिन हो सकता है, कर्मक्षेत्र में आर्थिक सुविधा का अनुभव कर सकते हैं, प्रसन्न रहेंगे।

वृष – चल रहे प्रयासों में प्रगति की संभावना है, पूरे उत्साह के साथ कर्मक्षेत्र  से जुड़े रहें, परिवार में शांति रहेगी।

मिथुन – कोई भी निर्णय सोच-समझकर अपनों के राय-परामर्श में लें, हड़बड़ी से बचें, दिन व्यस्तभरा हो सकता है।

कर्क – आमोद-प्रमोद में दिन व्यतीत होने की आशा है, घर परिवार के साथ कहीं बाहर जा सकते हैं, प्रगति बनी रहेगी।

सिंह –  सफलतादायक स्थिति बन सकती है, पूरे उत्साह के साथ चल रहे प्रयासों को गति प्रदान करें, आनंदित रहेंगे।

कन्या – सामान्य दिन बने रहने की आशा है, मन में कभी-कभी उत्साह की कमी का अनुभव कर सकते हैं, काम में ध्यान लगाएं।

तुला -​ कोई पारिवारिक समस्या चिंता का कारण बन सकती है, तनावमुक्त रहते हुए धैर्य से काम लें, स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

वृश्चिक –  शारीरिक थकान का अनुभव कर सकते हैं, कर्मक्षेत्र में अनुकूलता रहेगी, विश्राम करना लाभदायक रहेगा।

धनु – दिन मनोरंजन प्रधान बने रहने की आशा है, पुराने इष्ट-मित्रों के साथ कहीं बाहर जा सकते हैं, प्रगति बनी रहेगी।

मकर – किसी पारिवारिक प्रयास में प्रगति संभव है, कर्मक्षेत्र अवसर प्रदान करने वाला सिद्ध हो सकता है, दिन सुखद रहेगा।

कुंभ – चिंताकारक स्थिति बन सकती है, लेनदेन में सावधानी रखते हुए कोई भी वादे संभलकर करें, विवादों से बचें।

मीन – दिन लाभदायक रहने की आशा है, सहयोगियों के सहयोग के साथ कर्मक्षेत्र से जुड़े रहें, सुविधा बनी रहेगी।

बजार –  सोना, चांदी, दलहन, रेशम, सरसों तेल, रिफाइन तेल, वनस्पति घी, सुपाड़ी, कत्था, केमिकल्स में सामान्य मंदी की संभावना है।

भाग्यांक –  1-2-4-5

आज जिनका जन्मदिन है  अगले जन्मदिन तक आलस्य एवं लापरवाही का त्याग करते हुए पूरी तत्परता के साथ कोई भी काम करना व्यापारिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद सिद्ध हो सकता है। कर्मक्षेत्र के उतार-चढ़ाव से घबड़ाने के बजाय उनका डटकर मुकाबला करें, आंख मंूदकर या भावनाओं में बहकर ऐसा कोई निर्णय न लें, जिसकी भरपाई मुश्किल हो। आर्थिक स्थिति प्राय: नियंत्रण में रहने की आशा है, फिर भी वादे अपनी क्षमता को ध्यान में रखकर ही करें। सरकारी कामों में मदद मिल सकती है। पारिवारिक प्रयास सफल होंगे, प्रसन्नता बनी रहेगी। विद्यार्थी पढ़ाई पर पूरा ध्यान दें। कुछ यात्राएं संभव हंै। स्वास्थ्य का ध्यान रखें, मौसमी प्रभाव से बचें।   -डॉ. मंगल त्रिपाठी 

Leave a Comment