टेक्नोलॉजी

अगर आपके फोन में भी इन्टाल हैं ये ऐप, तो तुरन्त हटायें

अगर आपके फोन में भी इन्टाल हैं ये ऐप, तो तुरन्त हटायें

नई दिल्ली। अगर आपने अपने मोबाइल फोन में बैंकिंग ट्रांजैक्शन करने के लिए ऐप डाउनलोड कर रखे हैं तो अलर्ट हो जाइए। भारत में दो नए वायरस मोबाइल फोन में बैंकिंग ऐप्स को निशाना बन रहे हैं। ये वायरस आपको लाखों रुपये की चपत लगा सकते हैं। भारत में बैंक टू-टाइम यूजर ऑथैंटिकेशन (दो स्तर पर सत्यापन) का इस्तेमाल करते हैं। सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स ने चेताया है कि ये दो वायरस टू-टाइम यूजर ऑथैंटिकेशन में भी सेंधमारी कर सकते हैं. यानी ये वायरस इस सिस्टम में भी सेंधमारी करके आपके बैंक खाते तक पहुंच सकते हैं। ये वायरस हैकर्स को OTP मुहैया करा देते हैं जिससे हैकर्स आसानी से आपके सारे पैसों को अपने अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं। कंप्यूटर सिक्योरिटी फर्म क्विक हील (Quick Heal) ने इन खतरनाक वायरस का पता लगाया है. इन वायरस का नाम Android.Marcher.C और Android.Asacub.T है. अगली स्लाइड में जानें कि ये वायरस किन-किन बैंकिंग ऐप्स में सेंधमारी कर सकते हैं।

ये वायरस यूजर के गोपनीय और बैंकिंग डेटा तक पहुंचने के लिए मोबाइल यूजर की सोशल मीडिया एक्टिविटीज का इस्तेमाल कर रहे हैं. यानी, वायरस Facebook, WhatsApp, Instagram, Twitter और Skype के जरिए भी बैंकिंग ऐप्स और संवेदनशील सूचनाओं तक पहुंच बना रहे हैं. जो बैंकिंग ऐप्स इन वायरस के निशाने पर हैं, यानी जिन बैंकों के ऐप्स में घुसकर ये वायरस गड़बड़ी कर सकते हैं, उनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI anywhere personal), ICICI बैंक (iMobile), AXIS बैंक (Axis Mobile) हैं।

ये वायरस यूजर के गोपनीय और बैंकिंग डेटा तक पहुंचने के लिए मोबाइल यूजर की सोशल मीडिया एक्टिविटीज का इस्तेमाल कर रहे हैं। यानी, वायरस Facebook, WhatsApp, Instagram, Twitter और Skype के जरिए भी बैंकिंग ऐप्स और संवेदनशील सूचनाओं तक पहुंच बना रहे हैं. जो बैंकिंग ऐप्स इन वायरस के निशाने पर हैं, यानी जिन बैंकों के ऐप्स में घुसकर ये वायरस गड़बड़ी कर सकते हैं, उनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI anywhere personal), ICICI बैंक (iMobile), AXIS बैंक (Axis Mobile) हैं। अगली स्लाइड में जानें कि कौन-कौन से और बैंकिंग ऐप्स पर है खतरा। ये वायरस यूजर के गोपनीय और बैंकिंग डेटा तक पहुंचने के लिए मोबाइल यूजर की सोशल मीडिया एक्टिविटीज का इस्तेमाल कर रहे हैं. यानी, वायरस Facebook, WhatsApp, Instagram, Twitter और Skype के जरिए भी बैंकिंग ऐप्स और संवेदनशील सूचनाओं तक पहुंच बना रहे हैं। जो बैंकिंग ऐप्स इन वायरस के निशाने पर हैं, यानी जिन बैंकों के ऐप्स में घुसकर ये वायरस गड़बड़ी कर सकते हैं, उनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI anywhere personal), ICICI बैंक (iMobile), AXIS बैंक (Axis Mobile) हैं। अगली स्लाइड में जानें कि कौन-कौन से और बैंकिंग ऐप्स पर है खतरा।

इनके अलावा, HDFC Bank के Mobile Banking Lite, युनियन बैंक की मोबाइल बैंकिंग, बैंक ऑफ बड़ौदा की Baroda mPassbook में ये दो वायरस अटैक कर सकते हैं और उपभोक्ताओं को चपत लगा सकते हैं. इनके अलावा, HDFC Bank के Mobile Banking Lite, युनियन बैंक की मोबाइल बैंकिंग, बैंक ऑफ बड़ौदा की Baroda mPassbook में ये दो वायरस अटैक कर सकते हैं और उपभोक्ताओं को चपत लगा सकते हैं। इनके अलावा, HDFC Bank के Mobile Banking Lite, युनियन बैंक की मोबाइल बैंकिंग, बैंक ऑफ बड़ौदा की Baroda mPassbook में ये दो वायरस अटैक कर सकते हैं और उपभोक्ताओं को चपत लगा सकते हैं।

अगर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की बात करें तो Twitter, Facebook, WhatsApp Messenger, Google Chrome, Instagram, Skype, Line भी इन खतरनाक वायरस के निशाने पर हैं. ये वायरस इन प्लेटफॉर्म के जरिए घुसकर यूजर्स की पर्सनल इंफॉर्मेशन चुरा सकते हैं. अगर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की बात करें तो Twitter, Facebook, WhatsApp Messenger, Google Chrome, Instagram, Skype, Line भी इन खतरनाक वायरस के निशाने पर हैं. ये वायरस इन प्लेटफॉर्म के जरिए घुसकर यूजर्स की पर्सनल इंफॉर्मेशन चुरा सकते हैं। अगर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की बात करें तो Twitter, Facebook, WhatsApp Messenger, Google Chrome, Instagram, Skype, Line भी इन खतरनाक वायरस के निशाने पर हैं। ये वायरस इन प्लेटफॉर्म के जरिए घुसकर यूजर्स की पर्सनल इंफॉर्मेशन चुरा सकते हैं।

Android.Marcher.C वायरस Adobe Flash Player के आइकन का इस्तेमाल करता है और एक असली ऐप नजर आता है. वहीं Android.Asacub.T एंड्रॉयड अपडेट आइकन का इस्तेमाल करता है. जब भी यूजर इस वायरस वाले ऐप को एक्सेस करता है तब वह उन्हें अपने बैंकिंग डीटेल को डालने के लिए झांसे में फंसा लेता है. Android.Marcher.C वायरस Adobe Flash Player के आइकन का इस्तेमाल करता है और एक असली ऐप नजर आता है. वहीं Android.Asacub.T एंड्रॉयड अपडेट आइकन का इस्तेमाल करता है. जब भी यूजर इस वायरस वाले ऐप को एक्सेस करता है तब वह उन्हें अपने बैंकिंग डीटेल को डालने के लिए झांसे में फंसा लेता है। Android.Marcher.C वायरस Adobe Flash Player के आइकन का इस्तेमाल करता है और एक असली ऐप नजर आता है. वहीं Android.Asacub.T एंड्रॉयड अपडेट आइकन का इस्तेमाल करता है। जब भी यूजर इस वायरस वाले ऐप को एक्सेस करता है तब वह उन्हें अपने बैंकिंग डीटेल को डालने के लिए झांसे में फंसा लेता है।

Leave a Comment