टेक्नोलॉजी

अपने स्मार्टफोन को कहीं भी चार्ज करने से पहले इसे जरूर पढ़ ले

अपने स्मार्टफोन को कहीं भी चार्ज करने से पहले इसे जरूर पढ़ ले

सिक्योरिटी फर्म Authentic8 के मुताबिक, जैसे ही आप अपना स्मार्टफोन किसी भी चार्जिंग सॉकेट से कनेक्ट करते हैं जो हैक्ड है तो आपका स्मार्टफोन भी इन्फेक्टेड हो सकता है और आपके स्मार्टफोन का सारा डेटा लीक हो सकता है.

पब्लिक चार्जिंग स्टेशन और पब्लिक wi-fi एक्सेस पॉइंट्स एयरपोर्ट, प्लेन, कॉन्फ्रेंस सेंटर और पार्क जैसी जगहों पर आसानी से मौजूद होती है. ताकि लोगों को उनके स्मार्टफोन का एक्सेस और डेटा मिलता रहे. पर ऐसे किसी अनजान पोर्ट से अपने फोन को कनेक्ट करना खतरे को बुलावा देना है.

सिक्योरिटी फर्म के मुताबिक ऐसा इसलिए होता है जिस कॉर्ड को आप अपने स्मार्टफोन को चार्ज करने के लिए इस्तेमाल करते हैं वही कॉर्ड फोन से डेटा दूसरे डिवाइसेस में भेजने के भी काम आता है. जैसे जिस कॉर्ड का उपयोग कर आप स्मार्टफोन को कम्प्यूटर से कनेक्ट कर चार्ज करते हैं उसी से उस कम्प्यूटर में डेटा भी भेजते हैं. उसी तरह हैकर्स भी आपके स्मार्टफोन के चार्जिंग में लगते ही आपकी सारी जानकारी आप से चुरा लेते हैं.

वो किस हद तक आपकी जानकारी आपसे चुरा के आपको खतरा पहुंचा सकते हैं इसकी कोई सीमा नहीं है. जिसमें आपके ई-मेल्स, टेक्स्ट मैसेजेस, फोटोज और कॉन्टैक्ट्स हो सकते हैं. ये ‘juice Jacking’कहलाता है. इस टर्म को रिसर्चर्स ने 2011 में खोजा था. पिछले साल इन्होंने एक और टर्म video Jacking भी खोजा था. जिसमें हैकर्स हैक्ड पोर्ट का उपयोग कर फोन के वीडियो डिस्प्ले को हैक कर लेते हैं जिससे आप जो भी टाइप करेंगे या देखेंगे वो सब रिकॉर्ड होता जाएगा.

Leave a Comment