टेक्नोलॉजी

यूहाॅलैंड ने भारत में लांच किया नया ट्रैक्टर

यूहाॅलैंड ने भारत में लांच किया नया ट्रैक्टर

न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर के नए 3600ज्ग हेरिटेज़ एडिशन ट्रैक्टर में हैं कई खास खूबियां जैसे कैटेगरी में सबसे अधिक हार्स पावर, आराम में बेमिसाल और क्लासिक डिज़ाइन में अत्याधुनिक तकनीकी फीचर। यह आपको फोर्ड 3600 ट्रैक्टर की याद दिलाएगा जिससे आज के न्यूहाॅलैंड ट्रैक्टर की बना है।

लखनऊ। विश्वप्रसिद्ध कृषि उपकरण ब्राण्ड न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर ने हाल में लखनऊ (उ.प्र.) में 47 एचपी का नया ट्रैक्टर न्यूहाॅलैंड 3600ज्ग हेरिटेज़ एडिषन लांच किया।न्यूहाॅलैंड 3600ज्ग हेरिटेज़ एडिशन कैटेगरी में सबसे अधिक पीटीओ हाॅर्स पावर देता है। इसके कई फीचर इंडस्ट्री में पहली बार पेश किए गए हैं जैसे इंडिपेंडेंट क्लच के साथ ऐप्ट्रा पीटीओ, स्ट्रेट एक्सेल के साथ प्लैनेटरी ड्राइव, हाई प्रिसीज़न हाइड्राॅलिक्स के साथ इम्पोर्टेड वाल्व और लिफ्ट-ओ-मैटिक और साॅफ्टेक क्लच टेक्नोलाॅजी। साथ ही इसमें कई वैकल्पिक फीचर जैसे 4 व्हील ड्राइव, फाॅरवर्ड-रिवर्स सिंक्रो शट्ल और आॅक्ज़िलरी हाइड्राॅलिक वाल्व भी उपलब्ध हैं। इन सभी फीचरों के बल पर 3600ज्ग हेरिटेज़ एडिशन कृषि के सभी वर्तमान और भविष्य के उपयोगों के लिए सबसे उपयुक्त ट्रैक्टर बन गया है।

न्यूहाॅलैंड 3600ज्ग ट्रैक्टर में आपको फोर्ड 3600 की विरासत दिखेगी जो अपने समय में भारत का सबसे लोकप्रिय ट्रैक्टर था। नए लांच हुए ट्रैक्टर को ‘हेरिटेज़ एडिषन’ कहा गया है क्योंकि इसमें बीते जमाने की डिज़ाइन की झलक मिलती है जबकि इसके अंदर आज की सबसे आधुनिक तकनीकियां हैं जिनके बल पर यह भावी उपयोगों के लिए भी सबसे सही पसंद होगी।

लांच के अवसर पर न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर के सेल्स एवं मार्केटिंग डायरेक्टर बिमल कुमार ने कहा, ‘‘न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर ने फोर्ड ट्रैक्टर की विरासत को आगे बढ़ाया है जो 100 वर्षों से भी पुरानी है। यह भारतीय किसानों को मशीनी खेती के सबसे आधुनिक साधन उपलब्ध कराती है। आज के न्यूहाॅलैंड ट्रैक्टरों का वंशावली फोर्ड 3600 ट्रैक्टर से शुरू होता है जो आज भी देष के विभिन्न राज्यों जैसे पंजाब, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के किसानों के दिलों में बसता है। आज भी फोर्ड का इस्तेमाल करने वाले किसान इस पर गर्व करते हैं। वे इस सर्वश्रेष्ठ ट्रैक्टर को अपनी शान मानते हैं।

ट्रैक्टर के कई खास फीचर हैं जैसे इंजन का बेजोड़ प्रदर्शन, मशीन की आकर्षक आवाज, हाइड्राॅलिक्स का प्रदर्षन और देखने में दमदार। किसानों की इस भावना का ध्यान रखते हुए हम ने नया हेरिटेज़ एडिशन 300 ज्ग् पेष किया है जो न्यूहाॅलैंड 3600ज्ग ट्रैक्टर खरीदने वाले अन्य बहुत से किसानों की शान बढ़ाएगा। न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर की शानदार विरासत 1895 से चलती आ रही है। न्यूहाॅलैंड का मकसद दुनिया के किसानों के लिए कृषि को आसान बनाने और पैदावार बढ़ाने के लिए निरंतर इनोवेशन और समर्पण का रहा है। इसके संस्थापकों में प्रमुख नाम हेनरी फोर्ड का है जिन्होंने पूरी दुनिया में खेती का मशीनीकरण किया और खेती के लिए जन-जन तक ट्रैक्टर पहंुचाया।1917 में पहले फोर्ड ट्रैक्टर फोर्डसन माॅडल एफ के उत्पादन को 100 से अधिक वर्ष हो गए हैं। ट्रैक्टरों के इतिहास में यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है।

न्यूहाॅलैंड ने खेती के मशीनीकरण के हेनरी फोर्ड के विचारों को सहेज कर रखा, नई पीढ़ियों को उपलब्ध कराया और विकसित भी किया। आज एक सदी के बाद भी पूरी दुनिया मशीनी खेती के ज्ञान और विशेषज्ञता का लाभ लेती है।आज न्यूहाॅलैंड की पहंुच और पहचान दुनिया के 170 देषों में है। एशिया प्रशांत क्षेत्र में इसके कारोबार के तहत चीन, भारत, पाकिस्तान, रूस, तुर्की और उज्बेकिस्तान में ट्रैक्टरों और कम्बाइन हार्वेस्टरों का उत्पादन किया जाता है।न्यूहाॅलैंड की मशीनों ने पिछले 20 वर्षों में अपने सफल और शानदार प्रदर्शन के साथ हजारों भारतीयों का विश्वास जीता है।न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर के ग्राहकों के लिए अत्याधुनिक तकनीक के 35 से 90 एचपी ट्रैक्टरों की बेहतरीन रेंज़ के साथ ही जमीन तैयार करने से लेकर कटाई के बाद उपयोगी मशीनें जैसे कि पुआल और चारा तैयार करने के उपकरण, प्लांटर तथा बेलर मौजूद है।न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर धान के पुआल और अन्य अवशेषों और चीनी मिलों में गन्ने के अवशेष से बिजली पैदा करने के उद्देश्य से बायोमास एकत्र करने में अपने उद्योग में सबसे आगे है। भारत में कार्यरत 600 से अधिक यूनिटों के साथ कम्पनी के बीसी 5060 बेलर मार्केट लीडर हैं।

पुआल के प्रबंधन में रेक और श्रेडो मल्चर जैसी अन्य मशीनों का भी चलन बढ़ रहा है और यह देश के किसानों के लिए आमदनी का एक अन्य जरिया बन रहे हैं।न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर के भारत में 4,00,000 से अधिक खुशहाल ग्राहक हैं। कम्पनी के ग्राहक संपर्क केंद्रों की संख्या 1000 से अधिक हो गई है। न्यूहाॅलैंड एग्रीकल्चर का ग्रेटर नोएडा में अत्याधुनिक प्लांट है जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं के साथ कार्यरत है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर के संयंत्रों के साथ ग्रेटर नोएडा प्लांट में एक शोध-विकास केंद्र और डीलरों एवं ग्राहकों के लिए प्रशिक्षण केंद्र भी हैं। किसानों को मशीनी खेती के साधनों की पूरी रेंज़ देने के लिए प्रतिबद्ध ब्राण्ड ने हाल में चाकन, पुणे में अपने नए अत्याधुनिक प्लांट में कम्बाइन हार्वेस्टर का उत्पादन आरंभ कर दिया है।किसानों की मदद करने और उनके प्रश्नों के उत्तर देने के लिए कम्पनी का एक डेडिकेटेड टोल फ्री नंबर 1800 419 0124 मौजूद है। ग्राहकों के लिए यह हेल्पलाइन हिन्दी और अंग्रेजी समेत कुल 8 भाषाओं में उपलब्ध है।

Leave a Comment