टेक्नोलॉजी

गिरते भारतीय रूपये के बीच Xiaomi ने दिये दाम बढ़ाने के संकेत

गिरते भारतीय रूपये के बीच Xiaomi ने दिये दाम बढ़ाने के संकेत

नई दिल्ली। गिरते भारतीय रूपये के बीच शियोमी स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी ने कहा है कि वह अपने स्मार्टफोन्स के दाम बढ़ा सकती है। इंडियन स्मार्टफोन मार्केट में शियोमी की हिस्सेदारी करीब 30 फीसदी है। कंपनी ने कहा है कि रुपये के कमजोर होने से उसके मुनाफे पर असर पड़ेगा और उसे मजबूरी में अपने फोन्स के दाम बढ़ाने पड़ेंगे।

कंपनी ने कहा कि वह भारत में अपने फोन बना रही है जिससे ग्राहकों को फायदा भी हो रहा है, लेकिन हमें फोन के कुछ पार्ट्स चीन, जापान और ताइवान से मंगवाने पड़ते हैं जिसका डॉलर्स में पेमेंट करना होता है। लेकिन जो पैसा हम यहां हम अपने प्रोडक्ट को बेचकर कमा रहे हैं वह रुपये में है। कंपनी ने अपने बिजनेस प्लान को 1 डॉलर के 62-65 रुपये होने को लेकर बनाया था लेकिन अब यह 71 रुपये हो गया है जिससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

शियोमी इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर मनु कुमार जैन ने कहा, ‘6 महीने में एक डॉलर की कीमत 71 रुपये हो गई है। हमने कहा था कि हम अपने हार्डवेयर डिवाइस पर 5 प्रतिशत से ज्यादा का प्रॉफिट मार्जिन नहीं रखेंगे लेकिन मेकिंग कॉस्ट 10 फीसदी बढ़ गई है। इसका सीधा असर हमारे प्रॉफिट मार्जिन पर पड़ रहा है। अगर रुपया इसी स्तर पर बना रहा तो हमें फोन के दाम बढ़ाने होंगे।’

उन्होंने आगे कहा कि जब हम किसी प्रोडक्ट के प्राइस की बात करते हैं तो हम उस प्रोडक्ट के लाइफटाइम को देखते हैं जो कि 9-18 महीने होता है और इसके हिसाब से हम उसके लिए कुछ डॉलर का रेट तय करते हैं जो कि अभी के रेट से ज्यादा नहीं होता। शियोमी ने अपने जून के IPO से पहले कहा था कि वे अपने हार्डवेयर प्रोडक्ट्स पर प्रॉफिट मार्जिन को 5% से ज्यादा नहीं बढ़ाएंगे।

जैन ने आगे कहा कि अगर लगातार रुपये की वैल्यू घटती रही तो हम अपने प्राइस को रिवाइज करने के लिए मजबूर हो जाएंगे। इसमें सबसे पहले 10 हजार से कम वाले प्रोडक्ट्स के दाम रिवाइज किए जाएंगे क्योंकि अगर 4 से 5 प्रतिशत के प्रॉफिट मार्जिन वाले इन प्रोडक्ट का एक्चुअल डॉलर प्रॉफिट बेहद कम है। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि कीमत कितनी बढ़ेगी लेकिन यह जरूर कहा कि यह कुछ सौ रुपये ही होंगे।

Leave a Comment