दुनिया

चीन में मुस्लिमों पर हो रहा अत्याचार, हाथ-पैर बांधकर पिलाई जाती है शराब…

चीन में मुस्लिमों पर हो रहा अत्याचार, हाथ-पैर बांधकर पिलाई जाती है शराब…

नई दिल्ली। पड़ोसी देश चीन में मुसलमानों पर हो रहे खौफनाक अत्याचारों को लेकर चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। रिपोर्ट के मुताबिक यहां शिक्षा कैंपों में मुसलमानों पर नीतिगत तरीके से अत्याचार किया जा रहा है। कुछ दिन पहले मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आया था कि चीन ने अपने यहां की मुस्लिम आबादी को शिक्षित करने के लिए कैंप खोले हैं लेकिन इन कैंपों से निकले कुछ लोगों ने अपनी जो आपबीती सुनाई वो परेशान करने वाली है। यहां से निकले कुछ मुसलमानों का कहना है कि वहां जिन्दगी नर्क थी।

कैंप में रहने वाले एक व्यक्ति ने अपनी आपबीती बताई। व्यक्ति की आरबीती को पढ़कर इस बात का एहसास होता है कि किस प्रकार चीन में मुस्लिम समुदाय के लोगों की स्थिति दयनीय है। व्यक्ति ने बताया कि उनका सिर्फ जुर्म यह है कि वह मुस्लिम हैं। उन्हें इस आधार पर गिरफ्तार किया गया और तीन दिन के कड़े सवाल-जवाब के बाद उन्हें चीन के शिनजियांग में रीएजुकेशन कैंप में भेज दिया गया।

एक इंटरव्यू में समरकंद नामक व्यक्ति ने बताया कि इस कैंप में उन्हें बेइज्जती का सामना करना पड़ा यहां तक की उनका ब्रेनवॉश करने की भी कोशिश की गई। कैंप में उन्हें घंटों तक कम्युनिस्ट पार्टी का प्रॉपेगैंडा पढ़ने के लिए मजबूर किया जाता था। और तो और रोज शी जिनपिंग की लंबी उम्र की कामना के लिए नारे भी लगवाए जाते थे। समरकंद ने बताया कि, जो भी इन नियमों का पालन नहीं करता था, उन्हें 12 घंटों तक बेड़ियों बांधकर रखा जाता था।
इसके साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वालों को पानी में मुंह डालकर टॉर्चर किया जाता था। ऊमर बेकाली नाम के एक व्यक्ति ने बताया कि, न कैंपों में घटिया गुणवत्ता वाला खाना दिया जाता है, मांस लगभग न के बराबर होता है और फूड पॉइजनिंग बेहद आम हो गया है।

Leave a Comment