दुनिया

‘एक कमांडो अपने वतन लौटने से इतना कैसे डर सकता है’

‘एक कमांडो अपने वतन लौटने से इतना कैसे डर सकता है’

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ को एक मामले में बृहस्पतिवार दोपहर तक अदालत में पेश होने को कहा है। अदालत ने कहा है कि एक कमांडो अपने वतन लौटने को लेकर इतना डर कैसे सकता है। मुशर्रफ के खिलाफ दायर इस मामले में उन्हें आजीवन अयोग्य ठहराया जा सकता है।
डॉन की खबर के अनुसार पाकिस्तान के चीफ जस्टिस साकिब निसार ने चेताया कि पूर्व राष्ट्रपति अगर बृहस्पतिवार दोपहर दो बजे तक अदालत में पेश नहीं होते हैं तो कानून के मुताबिक फैसला लिया जाएगा। चीफ जस्टिस मुशर्रफ की अपील की सुनवाई कर रही तीन जजों की बैंच की अगुवाई कर रहे हैं।

पूर्व सैन्य शासक ने पेशावर हाईकोर्ट द्वारा 2013 में उन्हें अयोग्य ठहराए जाने के खिलाफ शीर्ष अदालत में अपील की है। पिछले हफ्ते शीर्ष अदालत ने 74 वर्षीय मुशर्रफ को 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव के लिए इस शर्त पर नामांकन दाखिल करने की इजाजत दे दी थी कि वह मंगलवार को लाहौर में अदालत के सामने पेश होंगे और मामले की सुनवाई में हिस्सा लेंगे।

जस्टिस निसार ने कहा, ‘हम पहले ही कह चुके हैं कि अगर मुशर्रफ वापस आते हैं तो उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। हम लिखित गारंटी देने के लिए बाध्य नहीं हैं।

Leave a Comment