दुनिया

खुशहाली के मामले में भारत पीछे, चीन-पाक निकले आगे

सूची में भारत 133वें और पाक 75वें स्‍थान पर पहुंचा
वॉशिंगटनः खुशहाली के मामले में अब भारत अपने पड़ोसियों से भी पिछड़ गया है। फिलहाल, भारत इस सूची में 133 वें स्‍थान पर है। संयुक्‍त राष्‍ट्र की सस्‍टेनेबल डेवलपमेंट सॉल्‍यूशंस नेटवर्क की प्रकाशित वर्ल्‍ड हैप्‍पीनेस रिपोर्ट-2018 में इसकी पुष्टि की गई है। इस रिपोर्ट में जीवन प्रत्याशा, सामाजिक समर्थन, सामाजिक स्वतंत्रता जैसे मुद्दों से देश की प्रसन्नता का आंकलन किया गया है। 2017 में भारत 122वें स्‍थान पर था, लेकिन वह इस बार उसकी रैंकिंग 11 स्‍थान खिसक गई। इसका मतलब है कि देश में खुशहाली कम हुई है। वहीं सबसे कम खुशहाल देश बुरुंडी है। उसे 156वां स्‍थान मिला है।

सबसे खुशहाल देश फिनलैंड
रिपोर्ट के अनुसार ठंडे मौसम और लंबी सर्दियों वाला देश फिनलैंड दुनिया का सबसे खुशहाल देश है। 156 देशों की इस सूची में शीर्ष 10 खुशहाल देशों में से आठ देश यूरोप के हैं, जबकि शीर्ष 20 में भी एशिया का एक भी देश नहीं है। रिपोर्ट में अमेरिका को 18वें पायदान पर रखा गया है। इस सूची में सबसे ऊंचे पायदान पर नॉर्डिक राष्ट्र हैं।

चीन-पाक भारत से आगे
भारत खुश रहने के मामले में वह पाकिस्तान और गरीब देश नेपाल से भी पीछे है। रिपोर्ट में पाकिस्तान का 75वें, नेपाल 101वें , भूटान 97वें, बांग्लादेश 115वें, श्रीलंका 116वें और चीन 86वें स्‍थान पर रहा है। म्‍यांमार को इस सूची में 130वें स्‍थान पर रखा गया है।



Leave a Comment