दुनिया

भारत को रक्षा साझेदार घोषित करने से सहयोग बढ़ाने के दरवाजे खुलते हैं : अमरीका

भारत को रक्षा साझेदार घोषित करने से सहयोग बढ़ाने के दरवाजे खुलते हैं : अमरीका

पेंटागन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारत को ‘‘ बड़ा रक्षा साझेदार ’’ घोषित करने से परस्पर सहयोग के रास्ते खुलते हैं क्योंकि भारत और अमेरिका के नौवहन सुरक्षा , डोमेन संबंधी जागरूकता और आतंकवाद से निपटने जैसे कई मुद्दों पर साझा हित हैं।

अमेरिका ने वर्ष 2016 में भारत को ‘‘ बड़े रक्षा साझीदार ’’के रूप में मान्यता दी थी। यह दर्जा मिलने के बाद भारत , अमरीका से अत्याधुनिक और संवेदनशील प्रौद्योगिकियां खरीद सकता है। रक्षा , एशिया और प्रशांत सुरक्षा मामलों के सहायक मंत्री रैंडल श्राइवर ने सीनेट की विदेश संबंधों की समिति की एक उपसमिति के समक्ष कहा कि भारत और अमेरिका राजनीतिक , आर्थिक और सुरक्षा मामलों में सहज साझेदार हैं।

उन्होंने कहा कि अमरीका ने वर्ष 2016 में भारत को ‘ बड़ा रक्षा साझेदार ’ घोषित किया था जो रक्षा मामलों खासतौर से रक्षा व्यापार और तकनीक पर सहयोग बढ़ाने के रास्ते खोलता है। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्थिरता और नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के लिए समर्थन की साझा इच्छा के साथ भारत और अमेरिका के नौवहन सुरक्षा , डोमेन संबंधी जागरूकता , आतंकवाद विरोध , मानवीय सहायता और प्राकृतिक आपदाओं तथा अंतराष्ट्रीय खतरों की समन्वित प्रतिक्रिया देने पर साझा हित हैं।

Leave a Comment