दुनिया

मालदीव ने कहा, भारत भाई, मगर चीन बिछड़ा हुआ चचेरा भाई

बीजिंग : मालदीव ने कहा है कि भारत भाई है, लेकिन चीन बरसों बाद मिला बिछड़ा चचेरा भाई है और वह भारत की चिंताओं के बावजूद चीनी परियोजनाओं को आगे बढ़ाएगा। चीन में मालदीव के राजदूत मोहम्मद फैसल ने हांगकांग आधारित अखबार‘ साऊथ चाइना मार्निंग पोस्ट’ से कहा कि उनका देश चीनी निवेश को और भी गले लगाएगा लेकिन चीन और भारत के बीच टकराव में फंसने के खतरे की उसे जानकारी है। फैसल ने कहा कि, चीन बरसों पहले बिछड़ा चचेरा भाई है जिसे हमने पाया है, बरसों पहले बिछड़ा चचेरा भाई जो हमारी मदद करने का इच्छुक है।’ उन्होंने45 दिन बाद मालदीव से आपातकाल हटाने के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन के कदम के बाद यह बात कही। फैसल ने कहा, भारत एक भाई है। हम एक परिवार हैं, हम झगड़ सकते हैं और हमारे बीच विवाद हो सकते हैं, लेकिन आखिर में हम बैठेंगे और इसे हल करेंगे।’ उन्होंने दावा किया कि मालदीव वित्तपोषण के लिए कई परियोजनाएं भारत के पास ले गया, ‘‘ लेकिन हमें आवश्यक वित्त नहीं मिला।’’ चीन ने मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन का पुरजोर समर्थन किया और अंतरराष्ट्रीय दबाव पर ढाल बना। इसने उन्हें मौजूदा संकट के काल में सत्ता में बने रहने में सक्षम बनाया। मालदीव पर जो विदेशी कर्ज है उसका 70 प्रतिशत से ज्यादा हिस्सा चीन का है। फैसल का कहना है कि मालदीव को इसकी अदायगी में कोई दिक्कत नहीं हो रही है।

Leave a Comment