दुनिया

ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी फटने से 62 से ज्यादा लोगों की मौत, दर्जनों घायल और लापता…

ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी फटने से 62 से ज्यादा लोगों की मौत, दर्जनों घायल और लापता…

नई दिल्ली। ग्वाटेमाला के सबसे सक्रिय ज्वालामुखियों में से एक वोल्कन डे फुगो में हुए एक शक्तिशाली विस्फोट में 62 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। ज्वालामुखी में हुए इस विस्फोट होने के बाद निकलने वाली राख आसमान में फैल जाने के कारण सभी हवाई उड़ानों को रोक दिया गया और हवाई अड्डे को बंद करना पड़ा है। ग्वाटेमाला के फोरेंसिक विज्ञान संस्थान ने बताया कि रात 9 बजे तक मृतकों की संख्या 62 हो गई है जिनमें से 13 लोगों की पहचान की जा चुकी है। मौत का ये आंकड़ा बढ़ सकता है क्योंकि राहत और बचाव की टीमें अभी खोज अभियान में लगी हुई हैं।

अंधेरा ज्यादा हो जाने के कारण कम रोशनी और खतरनाक परिस्थियों के कारण खोज और बचाव दल को अपना अभियान कल सुबह तक के लिए रोकना पड़ा है। प्रत्यदर्शियों के मुताबिक विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि कुछ ही मिनटों में ज्वालामुखी की राख पूरे आसमान में फैल गई। विस्फोट के कुछ घंटों बाद आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रमुख सर्गियो कबानास और राष्ट्रपति जिम्मी मोराल्स ने एक संवाददात सम्मेलन को संबोधित करते हुए इस विस्फोट में सात लोगों के मारे जाने और 20 लोगों के घायल हो जाने की पुष्टि की थी। इसके साथ ही उन्होंने इस विस्फोट के कारण 17 लाख लोग प्रभावित हुए हैं।

राष्ट्रपति मोराल्स ने कहा संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्होंने इस ज्वालामुखी विस्फोट से सबसे ज्यादा प्रभावित एक्क्युन्टिला, चिमाल्टेनांगो और सैकेटेपेक्वेज में रेड अलर्ट की घोषणा कर दी है। उन्होंने बताया कि वह और उनकी सरकार सभी प्रभावित इलाकों में आपातकाल की स्थिति की घोषणा करने के बारे में बात की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने देश के नागरिकों से शांति बनाए रखने की अपील भी की है।

मोराल्स ने बताया कि आपात अभियानों को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए पुलिस, रेड क्रास और सेना के हजारों जवानों को भेजा गया है। उन्होंने बताया कि इस ज्वालामुखी विस्फोट के बाद कुछ लोग लापता भी हुए हैं लेकिन हमें लापता लोगों की निश्चित संख्या के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने बताया कि विस्फोट के बाद से बहुत अधिक मात्रा में लावा निकलने के कारण कई इलाके के समुदायों के साथ संपर्क स्थापित करने में बाधा आ चुकी है।

Leave a Comment