दुनिया

12 जून को किम जोंग से मिलेंगे राष्ट्रपति ट्रंप, सिंगापुर में होगी मुलाकात…

12 जून को किम जोंग से मिलेंगे राष्ट्रपति ट्रंप, सिंगापुर में होगी मुलाकात…
वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के प्रेसिडेंट किम जोंग उन की मुलाकात पर अंतिम मुहर लग गई है। ये मुहर खुद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लगाई है। डोनाल्ड ट्रंप ने ऐलान किया है कि वो 12 जून को सिंगापुर में ही किम जोंग उन से मिलेंगे। यह पहली बार होगा जब ट्रंप और किम मुलाकात करेंगे। इसलिए दुनियाभर के देशों की नजरें भी इस मुलाकत पर टिकी हैं। दरअसल उत्तर कोरिया ने देश में दूसरे नंबर की हैसियत रखने वाले अधिकारी किम योंग चोल को अमेरिका भेजा हुआ है। ट्रंप ने योंग चोल से मुलाकात के बाद यह फैसला लिया है। ट्रंप ने कहा कि पहले वह उत्तर कोरिया के खिलाफ कई बड़े फैलले लेने वाले थे। लेकिन अब वह ऐसा कोई फैसला लेने वाले नहीं हैं। साथ ही उन्हेंने कहा कि अब उन्हें उस दिन का इंतजार है जब वह उत्तर कोरिया पर लगे सारे प्रतिबंध हटा देंगे।
बताया जा रहा है कि किम जोंग उन ने अपने करीबी  किम योंग चोल के जरिए ट्रंप को एक खत भेजा था, जिसको पढ़ते ही वो किम से सिंगापुर में पूर्व निर्धारित समय पर मिलने को राजी हो गए। किम योंग चोल के व्हाइट हाउस से जाने के फौरन बाद ट्रंप ने कहा,‘हम 12 जून को (सिंगापुर में) किम जोंग उन के साथ बैठक करने जा रहे हैं। यह अंत में एक सफल प्रक्रिया होगी।’ साथ ही ट्रंप ने कहा कि ‘मैं 12 जून को सिंगापुर की यात्रा करूंगा। यह एक शुरुआत होगी। मैंने यह कभी नहीं कहा कि यह एक बैठक में होगा। मुझे लगता है कि एक बैठक में हमारे पास बहुत सकारात्मक परिणाम होंगे।’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा,‘बड़ी बात 12 जून को होगी. प्रक्रिया 12 जून को सिंगापुर में शुरू होगी।’
इससे पहले उन्होंने किम जोंग उन को खत लिखकर सिंगापुर में 12 जून को मुलाकात करने से इनकार कर दिया था। इससे दोनों की मुलाकात की आस लगाए बैठी पूरी दुनिया को झटका लगा था। इसकी कई देशों ने कड़ी आलोचना भी की थी। हालांकि उत्तर कोरिया ने संयम से काम लिया और इस मुलाकात को बहाल करने के लिए कूटनीतिक वार्ता शुरू की। इसी कड़ी में किम ने उत्तर कोरिया के वरिष्ठ अधिकारी किम योंग चोल को अपना राजदूत बनाकर अमेरिका भेजा। किम योंग चोल ने वहां अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से मुलाकात की और इसके बाद व्हाइट हाउस पहुंचकर अमेरिकी राष्ट्रपति से भी मिले।

Leave a Comment