दुनिया

दलितों के साथ लंच पर ,तेजस्वी ने सदा निधाना रविशंकर ने किया पलटवार

दलितों के साथ लंच पर ,तेजस्वी ने सदा निधाना रविशंकर ने किया पलटवार

नईदिल्ली: संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर की 127वीं जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल को केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों को सशक्त बनाने के लिए पटना के फाइव स्टार होटल  मौर्य में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद थे, मगर इस पूरे कार्यक्रम को लेकर विवाद तब हो गया जब रविशंकर प्रसाद ने दलित महिलाओं के साथ होटल में लंच करने के मामले पर सत्तापक्ष-विपक्ष के बीच बयानबाजी का दौर जारी है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इस मामले पर बयान जारी करते हुए मंत्री पर करारा तंज कसा। वहीं रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट करते हुए तेजस्वी के बयान का जवाब दिया है।रविशंकर ने कहा कि पूरे बिहार से आई डिजिटल साक्षर एससी-एसटी बहनों और बेटियों को अम्बेडकर जयंती के दिन पटना में सम्मानित किया और उनके साथ भोजन ग्रहण किया।

क्या ऐसी गरीब एससी-एसटी बहनों को मेरे साथ बड़े होटल में भोजन करने का अधिकार नहीं है? यह मेरा सौभाग्य है कि मैंने उनका सत्कार किया और उनके साथ भोजन किया।रविशंकर ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोगों को दलितों के सशक्तिकरण से परेशानी हो रही है क्योंकि उन्हें वो सिर्फ वोट बैंक समझते हैं। नरेंद्र मोदी सरकार उन्हें बराबरी और सम्मान का अधिकार देती है। हम छह करोड़ गरीब लोगों को डिजिटल साक्षर बना रहें हैं जिसमें से एक करोड़ लोगों को डिजिटल साक्षर बना चुके है।

Leave a Comment